Thursday , August 24 2017
Home / India / शिवसेना के पूर्व प्रमुख बाल ठाकरे सबसे ज्यादा धूर्त नेता थे : काट्जू

शिवसेना के पूर्व प्रमुख बाल ठाकरे सबसे ज्यादा धूर्त नेता थे : काट्जू

पूर्व जस्टिस मार्कंडेय काट्जू ने शिवसेना के पूर्व प्रमुख स्वर्गीय बाल ठाकरे के खिलाफ एक पोस्ट लिखकर उन्हें सबसे ज्यादा धूर्त नेता बताया है |

जनसत्ता की एक खबर के मुताबिक़ काटजू ने ब्लॉग में लिखी इस पोस्ट को उन्होंने “द रास्कल बाल ठाकरे” शीर्षक दिया है | इस पोस्ट में उन्होंने कहा कि देश के सबसे ज्यादा गुंडागर्दी करने वाले और बेशर्म नेताओं में बाल ठाकरे शायद सबसे ऊपर थे | उन्होंने कहा कि 2012 में ठाकरे के देहांत पर वह उन्हें श्रद्धांजलि देने नहीं गये थे | हालाँकि भारतीय राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सोनिया गांधी समेत सभी बड़ी हस्तियां श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे |

उन्होंने इस बारे में अंग्रेजी अखबार द हिंदू में एक आर्टिकल भी लिखा था |19 नवंबर 2012 को छपे इस आर्टिकल को छपे इस आर्टिकल को अपनी पोस्ट में भी साझा किया है | इस आर्टिकल का नाम Why I can’t pay tribute to Bal Thackeray (मै बाल ठाकरे को श्रद्धांजलि क्यों नहीं दे सकता) था | दूसरे प्रदेशों से आकर महाराष्ट्र में रहने वाले लोगों पर बाल ठाकरे की पार्टी शिवसेना द्वारा की गई हिंसा का जिक्र इस आर्टिकल में किया गया था |

भारतीय संविधान के आर्टिकल 19 (1) (e) के बारे में बताते हुए लिखा कि इसके मुताबिक भारत के हर नागरिक को किसी भी राज्य में रहने का अधिकार है| उन्होंने लिखा कि जैसे महाराष्ट्र के नागरिक को किसी दूसरे राज्य में रहने की छूट है | ऐसे ही गुजराती, दक्षिण भारतीय, बिहार, यूपी या किसी भी राज्य के नागरिक का मौलिक अधिकार है कि वह महाराष्ट्र या किसी और राज्य में जाकर रह सके| लेकिन बाल ठाकरे सोचते थे कि महाराष्ट्र दूसरे राज्य के लोगों के लिए नहीं है सिर्फ मराठी लोगों के लिए है |1960 और 70 में दक्षिण भारतीयों पर , वहीं 2008 में बिहारी और यूपी से आए लोगों पर  शिवसेना ने हमला किया था| उन्होंने लिखा कि वोट बैंक की राजनीति के लिए ये सब किया गया था |उन्होंने ऐसी कई कमियां बताते हुए लिखा कि आखिर बाल ठाकरे को श्रद्धांजलि नहीं देने कि वजह क्या थी |

गौरतलब है कि काट्जू ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) पर तीखा प्रहार करते हुए एक दिन पहले ही बुधवार को कई ट्वीट किए थे। अपने ट्विट में उन्होंने कहा था कि, “”मनसे असहाय लोगों पर हमले क्यों कर रही है? अगर आपमें साहस है तो मेरे पास आइए , मेरा डंडा तुम्हारा इंतजार कर रहा है और तुम्हारी खबर लेने के लिए अधीर है।” काट्जू ने अगले ट्वीट में लिखा, “मनसे के कार्यकर्ता गुंडे हैं, जिन्होंने अरब सागर का खारा पानी ही चखा है। मैं इलाहाबादी गुंडा हूं, जिसने संगम का पानी पिया है।”

TOPPOPULARRECENT