Saturday , October 21 2017
Home / India / शीया फ़िर्क़ा की तदफ़ीन का मुआमला, क़ब्रों की ख़रीद-ओ-फ़रोख़्त पर मुकम्मल इम्तिना

शीया फ़िर्क़ा की तदफ़ीन का मुआमला, क़ब्रों की ख़रीद-ओ-फ़रोख़्त पर मुकम्मल इम्तिना

शीया सेंटर्ल वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़्वी ने लखनऊ के शीया क़ब्रिस्तानों के मुतवल्लियों को नोटिस दिया है जिसमें उन्होंने क़ब्रिस्तान में मय्यतों की तदफ़ीन के लिए क़ब्रों को मनमांगी ( मुंहमांगी) क़ीमत पर फ़रोख्त करने का सिलसिल

शीया सेंटर्ल वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़्वी ने लखनऊ के शीया क़ब्रिस्तानों के मुतवल्लियों को नोटिस दिया है जिसमें उन्होंने क़ब्रिस्तान में मय्यतों की तदफ़ीन के लिए क़ब्रों को मनमांगी ( मुंहमांगी) क़ीमत पर फ़रोख्त करने का सिलसिला फ़िलफ़ौर बंद किए जाने और माज़ी में जिन क़ब्रिस्तानों में क़ब्रों की क़ीमत वसूल की गई है इस रक़म को वापस करने की हिदायत दी है। शीया वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन ने इस सिलसिले में ईरान के आक़ाए सीतानी का एक फ़तवा भी पेश किया है, जिसमें आक़ाए सीतानी क़ब्रों की मुंह मांगी क़ीमत वसूल करने को नक़द जाफ़रिया के मुनाफ़ी बताया है।

अगरचे शीया फ़िर्क़ा की अक्सरीयत आक़ाए सीतानी इस फ़तवा को असली फ़तवा मानने को तैयार नहीं हैं। शीया आलिम ए दीन मौलाना अमीर हैदर ने कहा कि हज़रत इमाम हुसैन ओ ने कर्बला के मैदान में मय्यतों की तदफ़ीन के लिए क़ब्रों की अराज़ी को ख़रीदा था। उन्होंने कहा कि जब हज़रत इमाम हुसैन (र०) ने क़ब्रों की ख़रीदारी की तो फिर उन के मानने वाले क़ब्रों की अराज़ी क्यों नहीं ख़रीद सकते हैं? याद रहे कि लखनऊ के तमाम बड़े शीया क़ब्रिस्तानों में मय्यतों की तदफ़ीन के लिए जगह नहीं रह गई है।

इमाम बाड़ा ज़फ़राग़ाब, इमाम बाड़ा आग़ा बाक़िर, इमाम बाड़ा जन्नत माब, मलिका जहां समेत तमाम बड़े अहम क़ब्रिस्तानों में क़ब्रों की ज़िंदगी में ही मुंह मांगी क़ीमत अदा करके बुकिंग किये है जिस की वजह से शीया फ़िर्क़ा के मुतवस्सित तबक़ा के लिए मय्यतों की तदफ़ीन एक संगीन मसला बन गया है। ऑल इंडिया शीया पर्सनल ला बोर्ड के तर्जुमान मौलाना यासूब अब्बास ने गुज़शता दिनों नगर निगम से शीया फ़िर्क़ा के क़ब्रिस्तान के लिए क़ता के अराज़ी अलाट किए जाने का मुतालिबा किया था

TOPPOPULARRECENT