Sunday , October 22 2017
Home / World / शुमाली कोरिया का तजुर्बा नाकाम, राकेट समुंद्र में गिर कर तबाह

शुमाली कोरिया का तजुर्बा नाकाम, राकेट समुंद्र में गिर कर तबाह

अक़्वाम आलम के सख़्त ऐतराज़ और मुख़ालिफ़त की परवाह किए बगैर शुमाली कोरिया ने जो दूर मार सेटेलाइट राकेट का तजुर्बा किया वो नाकाम रहा ।

अक़्वाम आलम के सख़्त ऐतराज़ और मुख़ालिफ़त की परवाह किए बगैर शुमाली कोरिया ने जो दूर मार सेटेलाइट राकेट का तजुर्बा किया वो नाकाम रहा ।
जुनूबी कोरीयाइ और जापानी इत्तेलात के मुताबिक़ राकेट परवाज़ के ढेढ़ मिनट बाद ही समुंद्र में गिर कर तबाह हो गया ।

अमेरीका का कहना है वो जानने की कोशिश कर रहा है कि तजुर्बे के दौरान किया हुआ। राकेट जुमा की सुबह मुक़ामी वक़्त के मुताबिक़ सात बज कर उनतालिस मिनट पर दाग़ा गया था।शुमाली कोरिया की जानिब से ताहाल राकेट के तजुर्बे के बारे में कोई ब्यान सामने नहीं आया है।जुनूबी कोरिया और जापान ने पहले ही ख़बरदार कर दिया था कि अगर ये राकेट उन की हदूद में दाख़िल हुआ तो वो उसे मार गिराएंगे। जुनूबी कोरिया की फ़ौज के तर्जुमान का कहना है कि राकेट का तजुर्बा नाकाम रहा है और वो परवाज़ के मिनटों बाद ही टूट फूट गया।

अमेरीकी मीडीया के मुताबिक़ राकेट की परवाज़ को नव्वे सेकेंड ही गुज़रे थे कि वो तबाह हो गया। शुमाली कोरिया का कहना है कि इस राकेट से एक मस्नूई सय्यारे को खला में भेजना मक़सूद था लेकिन नुक्ता चीनी करने वालों को इस बात का ख़दशा था कि ये एक दूरमार मिज़ाईल की टेक्नोलोजी का तजुर्बा हो सकता है। अक़्वाम-ए-मुत्तहदा की क़रारदादों के तहत शुमाली कोरिया पर बलास्टिक मीज़ाईलों के तजुर्बात पर पाबंदी आइद है ताहम शुमाली कोरिया का कहना है कि सेटेलाइट रवाना करने का मुआमला एक अलग चीज़ है। न्यूयार्क में सिफ़ारतकारों का कहना है कि शुमाली कोरिया के इस तजुर्बे पर बातचीत के लिए सलामती कौंसल का हंगामी इजलास आज होगा। अक़्वाम-ए-मुत्तहदा की क़रारदादों के तहत शुमाली कोरिया पर बलास्टिक मीज़ाईलों के तजुर्बात पर पाबंदी आइद है ताहम शुमाली कोरिया का कहना है कि सेटेलाइट रवाना करने का मुआमला एक अलग चीज़ है

TOPPOPULARRECENT