Wednesday , October 18 2017
Home / India / शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम से पार्लीमैंट का इज़हार यगानगत

शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम से पार्लीमैंट का इज़हार यगानगत

फ़िर्कावाराना हम आहंगी-ओ-क़ौमी यकजहती को ख़तरा , शरपसंदों को सख़्ती से कुचल देने का अज़म, वज़ीर-ए‍आज़म(प्रधान – मंत्री prime minister) का ख़िताबपार्लीमैंट ने मुल्क के मुख़्तलिफ़ हिस्सों में मुक़ीम शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम के ज़हनों में पैदा शूदा ख़ौफ़-ओ-अंदेशों पर गहिरी तशवीश का इज़हार किया है और वज़ीर-ए‍आज़म(प्रधान – मंत्री prime minister) मनमोहन सिंह ने कहा कि इन अवाम में एहसास अदम तहफ़्फ़ुज़ पैदा करने की इंतिहाई मज़मूम कोशिशों में मुलव्वस ख़ातियों के ख़िलाफ़ सख़्त तरीन कार्रवाई की जाएगी।

पार्लीमैंट के दोनों ऐवानों ने शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम से यगानगत का मुज़ाहरा किया। राज्य सभा ने एक क़रारदाद मंज़ूर करते हुए मुतालिबा किया कि अफ़्वाहें फैलाने और सनसनी पैदा करने के वाक़ियात की जामि तहक़ीक़ात की जाएं। डाँक्टर मनमोहन सिंह ने दावा किया कि सूरत-ए-हाल पर क़ाबू पाने केलिए उन की हुकूमत तमाम ज़रूरी इक़दामात करेगी और शुमाल मशरिक़ के अवाम को सैक्युरीटी फ़राहम की जाएगी।

उन्हों ने आसाम और दीगर इलाक़ों के हालिया वाक़ियात के बहाना अफ़्वाहें फैलाने और एहसास अदम तहफ़्फ़ुज़ पैदा करने की कोशिशों की मुज़म्मत की। इस हस्सास मसला पर पार्लीमैंट के दोनों ऐवानों से ख़िताब करते हुए डाँक्टर मनमोहन सिंह ने कहा कि शुमाल मशरिक़ का एक इंतिहाई हस्सास मसला है। जो लोग अफ़्वाहें फैला रहे हैं, उन के ख़िलाफ़ मुक़द्दमा दर्ज किया जाय और ख़ातियों को सज़ा-ए-दी जाएगी।

वज़ीर-ए‍आज़म(प्रधान – मंत्री prime minister) ने अवाम पर ज़ोर दिया कि वो क़ौमी इत्तिहाद-ओ-यकजहती बरक़रार रखें। उन्हों ने ये रिमार्कस उस वक़्त किया जब पार्लीमैंट के तमाम अरकान ने सयासी वाबस्तगियों से बालातर होकर टामिलनाडो, महाराष्ट्रा, आंध्रा प्रदेश और कर्नाटक में मुक़ीम शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम में पैदा शूदा ख़ौफ़-ओ-सनसनी की लहर पर मुत्तहदा तौर पर आवाज़ उठाई।

दोनों ऐवानों ने इस मसले पर फ़िलफ़ौर बेहस का आग़ाज़ किया। राज्य सभा में सदर नशीन(राष्ट्रपति‍‍-President ) हामिद अंसारी ने वकफ़ा-ए-सवालात मुअत्तल करदिया था। लोक सभा में स्पीकर मीराकुमार ने वकफ़ा-ए-सवालात मुअत्तल किए बगै़र इस मसले पर गौरव बेहस की इजाज़त दी। राज्य सभा और लोक सभा ने क़रारदाद मंज़ूर करते हुए मुल़्क की दीगर रियास्तों में मुक़ीम शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम से यगानगत का इज़हार किया।

वज़ीर-ए-आज़म(प्रधान – मंत्री prime minister) मनमोहन सिंह से कहा कि उन्हें सलामती फ़राहम करने केलिए हम तमाम मुम्किना इक़दामात करेंगे। उन्हों ने शुमाल मशरिक़ी रियास्तों के अवाम में बढ़ते हुए एहसास अदम तहफ़्फ़ुज़ को इंतिहाई मज़मूम क़रार दिया। उन्हों ने कहा कि शुमाल मशरिक़ी इलाक़ा हमारे मुल्क का एक इंतिहाई हस्सास इलाक़ा है लेकिन एक बात जो मैं कहना चाहता हूँ कि कोकराझार और चंद दूसरे इलाक़ों में जो कुछ हुआ है इस से मौज़ा के मुल्क के दीगर हिस्सों में अफ़्वाहें और सनसनी नहीं फैलाना चाहीए जिस से शुमाल मशरिक़ के अवाम ग़ैर महफ़ूज़ महसूस कररहे हैं।

वज़ीर-ए-आज़म(प्रधान – मंत्री prime minister) मनमोहन सिंह ने जो राज्य सभा में आसाम की नुमाइंदगी करते हैं, ख़बरदार किया कि फ़िर्कावाराना हम आहंगी और क़ौमी इत्तिहाद-ओ-यकजहती को ख़तरा लाहक़ होगया है।

TOPPOPULARRECENT