Sunday , October 22 2017
Home / India / श्रीलंका के तमिल शहरों का मसला, राज्य सभा में हंगामा

श्रीलंका के तमिल शहरों का मसला, राज्य सभा में हंगामा

डी एम के और अना डी एम के के अरकान की बाएं बाज़ू ने भी श्रीलंका के तमिल शहरीयों के मसला पर ताईद की जिस की वजह से राज्य सभा का इजलास आज हंगामा की नज़र हो गया और सदर नशीन राज्य सभा को कार्रवाई 2 बजे दोपहर तक मुल्तवी कर देनी पड़ी।

डी एम के और अना डी एम के के अरकान की बाएं बाज़ू ने भी श्रीलंका के तमिल शहरीयों के मसला पर ताईद की जिस की वजह से राज्य सभा का इजलास आज हंगामा की नज़र हो गया और सदर नशीन राज्य सभा को कार्रवाई 2 बजे दोपहर तक मुल्तवी कर देनी पड़ी।

तमिलनाडू के अरकान-ए-पार्लीमेंट ने ऐवान का इजलास शुरू होते ही ये मसला उठाया जो राज्य सभा का पहला काम का दिन था। बजट इजलास दोनों ऐवानों की मुशतर्का नशिस्त से सदर जमहूरीया के ख़िताब के बाद कल मुल्तवी कर दिया गया था और कोई सरकारी कार्रवाई अमल में नहीं आई थी।

डी एम के अरकान मुतालिबा कर रहे थे कि हिंदूस्तान को एक क़रारदाद की ताईद करनी चाहीए जो अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के इंसानी हुक़ूक़ कमीशन में अमेरीका, फ़्रांस, और नार्वे में मुशतर्का तौर पर पेश की है और इल्ज़ाम आइद किया है कि श्रीलंका में ख़ानाजंगी के दौरान तमिल शहरीयों पर मज़ालिम ढाए गए थे।

डी एम के की ताईद उसकी कट्टर हरीफ़ाना डी एम के और बाएं बाज़ू की पार्टीयों ने भी की जो इस मसला पर हिंदूस्तान का मौक़िफ़ जानना चाहती थीं। ऐवान में शोर-ओ-हंगामा होने की वजह से इजलास दोपहर तक मुल्तवी कर दिया गया। वक़फ़ा सिफ़र के लिए जब इजलास का दुबारा आग़ाज़ हुआ तो एहतिजाजी अरकान ऐवान के वस्त में जमा हो गए।

उन्होंने नायब सदर नशीन के ए रहमान ख़ान की बार बार अपीलों पर कोई तवज्जा नहीं दी जिस वजह से इजलास पहले 15 मिनट के लिए और बादअज़ां दोपहर 2 बजे तक के लिए मुल्तवी कर दिया गया। हुकूमत ने इस मसला पर ब्यान देने से इत्तेफ़ाक़ किया। वज़ीर-ए-पार्लीमानी उमूर पवन कुमार बंसल ने कहा कि वज़ीर-ए-ख़ारजा एस एम कृष्णा आज शाम दिल्ली पहुंचेंगे और कल उनके ब्यान का एहतिमाम किया जाएगा।

लेकिन अरकान ने इससे इत्तेफ़ाक़ नहीं किया और आज ही ब्यान देने पर इसरार किया। श्रीलंका के तमिल शहरीयों पर मज़ालिम का मसला आज की कार्रवाई पर छाया रहा। डी एम के और अना डी एम के ने इस मसला पर हुकूमत के ब्यान के सिलसिले में अटल मौक़िफ़ इख्तेयार किया। और मुतालिबा किया कि हुकूमत क़रारदाद के सिलसिले में अपना मौक़िफ़ वाज़िह करे।

डी एम के अरकान टी सिल्वा वसन्ती स्टानली कन्नी मोज़ही और अना डी एम के अरकान वे माइतरेन और ए अलावा रासन ऐवान के वस्त में दाख़िल हो गए और नारा बाज़ी करने लगे। रहमान ख़ान ने कहा कि आप ब्यान चाहते हैं जो कल दिया जाएगा। आप आज ही ब्यान के लिए इसरार नहीं कर सकते। उन्हों ने कहा कि ऐवान की कार्रवाई जारी रहने दें लेकिन एहतिजाजी अरकान ने नारेबाज़ी जारी रखी।

जिसकी वजह से सदर नशीन इजलास दोपहर 2 बजे तक मुल्तवी करने पर मजबूर हो गए। क़ब्लअज़ीं एहतिजाजी अरकान ने क़ाइद अपोज़ीशन अरूण जेटली को ब्यान देना का मौक़ा नहीं दिया। सदर नशीन हामिद अंसारी ने अरूण जेटली को वकफ़ा-ए-सवालात के आग़ाज़ से पहले ख़िताब करने की इजाज़त दी थी और एहतिजाजी अरकान से अपील की थी कि वो बैनर्स ना लहराएं।

इनकी बारी आने पर उन्हें भी मुख़ातिब करने का मौक़ा दिया जाएगा। अरूण जेटली ने कहा कि वो इस मसला पर श्रीलंका के तमिल शहरीयों के मसला की यकसूई के बाद ब्यान देंगे। इस पर हामिद अंसारी ने अरकान को ये मसला उठाने की इजाज़त दी।

TOPPOPULARRECENT