Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / संगा रेड्डी फ़साद मुतास्सिरीन के लिए सियासत मिल्लत फ़ंड से 5 लाख की इमदाद

संगा रेड्डी फ़साद मुतास्सिरीन के लिए सियासत मिल्लत फ़ंड से 5 लाख की इमदाद

संगा रेड्डी में फ़िर्का वाराना फ़साद में मुस्लिम इमलाक की तबाही के बाद ख़्वाजा ग़रीब नवाज़ वीलफ़ीयर सोसाइटी संगा रेड्डी की जानिब से जनाब ज़ाहिद अली ख़ान ऐडीटर रोज़नामा सियासत हैदराबाद को नुक़्सानात और तबाह कारीयों की तफ़सील

संगा रेड्डी में फ़िर्का वाराना फ़साद में मुस्लिम इमलाक की तबाही के बाद ख़्वाजा ग़रीब नवाज़ वीलफ़ीयर सोसाइटी संगा रेड्डी की जानिब से जनाब ज़ाहिद अली ख़ान ऐडीटर रोज़नामा सियासत हैदराबाद को नुक़्सानात और तबाह कारीयों की तफ़सीली रिपोर्ट पेश की गई और मुतास्सिरा ताजरीन की इमदाद की ख़ाहिश की गई जिस पर जनाब ज़ाहिद अली ख़ान ऐडीटर सियासत ने सियासत मिल्लत रीलीफ़ फ़ंड से 5 लाख रुपये की इआनत करने का ऐलान किया,

और ये वाअदा किया कि संगा रेड्डी के मुतास्सिरीन की माली इआनत के लिए इदारा सयासतके ज़रीया मुख़य्य रहज़रात से भी माली तआवुन हासिल किया जाएगा । इदारा सियासत की बरवक़्त पहल और जज़बा ख़ैर सगाली का संगा रेड्डी की मुख़्तलिफ़ तंज़ीमों ने ख़ैर मुक़दम किया। ख़्वाजा ग़रीबनवाज़ वीलफ़ीयर सोसाइटी मुतास्सिरीन फ़साद की फ़हरिस्त तर्तीब दे रही है ।

छोटे ताजरीन को दुबारा कारोबार शुरू करने की सई और बड़े ताजरीन केलिए इमदाद देने के लिए ग़ौर किया जाएगा । अनक़रीब जनाब ज़ाहिद अली ख़ान मुतास्सिरीन मैं रास्त इमदाद तक़सीम करेंगे ।

मौलाना मुहम्मद मुही उद्दीन मौलवी शाह सर परस्त मुत्तहदा अहले सुन्नत उल जमाअत मौलाना सय्यद फ़सीह उद्दीन क़ासिमी सदर जमईयत उलमा-ए-ज़िला मेदक और दीगर ने जनाब ज़ाहिद अली ख़ान और इदारा सियासत की सताइश करते हुए इज़हार-ए-तशक्कुर किया,

और मिल्लत-ए-इस्लामीया से अपील की कि संगा रेड्डी के मुतास्सिरीन फ़साद की इमदाद केलिए सियासत मिल्लत रीलीफ़ फ़ंड हैदराबाद में अपने अतयात जमा करवाएं ताकि मिल्लत के ग़रीब परेशान हाल मज़लूमीन और मुस्तहक़्क़ीन की बरवक़्त मदद हो सके

और वो फिर से अपनी नई ज़िंदगी का बावक़ार अंदाज़ में आग़ाज़ कर सकें। जनाब ज़ाहिद अली ख़ान ऐडीटर सियासत ने

अपने एक ब्यान में मिल्लत-ए-इस्लामीया ख़ासकर ग़ैर मुक़ीम हिंदूस्तानियों से अपील की कि संगा रेड्डी के मुसीबत ज़दा और मुश्किल में फंसे मिली भाईयों की इमदाद केलिए फ़राख़दिलाना अतयात दें ता कि रोज़गार और असासा जात से महरूम मज़लूम मुस्लमान अपनी मईशत सुधार सकें ।

TOPPOPULARRECENT