Sunday , April 23 2017
Home / Uttar Pradesh / ‘संघ को खुश करने के लिए एएमयू के छात्रों पर मुकदमे करवाए सपा सरकार ने’- रिहाई मंच

‘संघ को खुश करने के लिए एएमयू के छात्रों पर मुकदमे करवाए सपा सरकार ने’- रिहाई मंच

लखनऊ : रिहाई मंच ने जेएनयू से गायब हुए छात्र नजीब की वापसी के लिए आंदोलन कर रहे अलीगढ़ मुस्लिम यूर्निवसिटी के पांच सौ छात्रों पर मुकदमा दर्ज करने की निंदा करते हुए इसे अखिलेश सरकार की एक और मुस्लिम विरोधी कार्यवाई बताया है।
रिहाई  मंच के अध्यक्ष एडवोकेट मो0 शुऐब ने कहा है नजीब के साथ मारपीट करने और उसे गायब करने में संघ परिवार के छात्र संगठन एबीवीपी की भूमिका है। लेकिन बावजूद इसके अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्र अगर नजीब की वापसी के लिए आंदोलन चलाते हैं तो अखिलेश यादव को परेशानी होने लगती है। जो साबित करता है कि अखिलेश यादव भी अपने पिता की तरह संघ परिवार पर कोई आंच नहीं आने देना चाहते। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह का पूरा इतिहास ही संघ परिवार के लोगों को किसी भी तरह बचाना रहा है इसीलिए कभी मुख्यमंत्री रहते हुए मुलायम सिंह बाबरी मस्जिद को शहीद करने के आरोपी लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती को क्लीन चिट दिलवाते हैं तो वहीं उनके पुत्र अखिलेश यादव अखलाक के हत्यारे संघियों को बचाने के लिए दादरी कांड की सीबीआई जांच की मांग नहीं करते और सोशल मीडिया पर मोदी के नोटबंदी के खिलाफ बोलने वाले बलिया के छात्रनेता बृजेश यादव बागी के खिलाफ उनकी समाजवादी पुलिस राजद्रोह का मुकदमा करती है।
रिहाई मंच अध्यक्ष ने कहा कि इससे ज्यादा शर्म की बात क्या हो सकती है कि अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष रहे आजम खान बाप-बेटे की लड़ाई के बीच अपने को संकट मोचक बनाकर अपनी राजनीति चमका रहे हैं और अलीगढ़ के छात्रों पर उनकी पुलिस लाठियां बरसा कर फर्जी मुकदमे दर्ज करा रही है। उन्होंने कहा कि नजीब के मसले पर दिल्ली में जहां पुलिस केंद्र सरकार के अधीन है इससे बड़े-बड़े आंदोलन हुए लेकिन वहां भी छात्रों पर इस तरह बर्बर हमले की हिम्मत पुलिस ने नहीं दिखाई। लेकिन अपने को सेक्यूलर बताने वाली अखिलेश सरकार 135 छात्रों पर नामजद के साथ कुल पांच सौ से अधिक पर अज्ञात के तहत मुकदमा दर्ज कर उनके लोकतांत्रिक आवाजों को ही नहीं दबा रही है बल्कि उनके करियर को नुकसान पहंुचाने की साजिश कर रही है।
रिहाई मंच नेता अनिल यादव ने कहा कि रिहाई मंच अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा 6 जनवरी को राजधानी लखनऊ में होने वाले प्रर्दशन का समर्थन करेगा। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह के कुनबे के लोग लोकसभा और राज्यसभा में नजीब का सवाल नहीं उठाते क्योंकि वे खुद संघ परिवार के मुस्लिम विरोधी एजेंडे को प्रदेश में लागू करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि नजीब और अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों पर हमला और मुकदमा सपा का सूपड़ा साफ कर देगा।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT