Tuesday , October 17 2017
Home / India / संदिग्ध आतंकियों का एनकाउंटर : बीजेपी ने थपथपाई पुलिसवालों की पीठ AAP-कांग्रेस ने उठाए सवाल

संदिग्ध आतंकियों का एनकाउंटर : बीजेपी ने थपथपाई पुलिसवालों की पीठ AAP-कांग्रेस ने उठाए सवाल

नई दिल्ली/भोपाल : भोपाल सेंट्रल जेल से भागे सिमी के आठ संदिग्ध आतंकियों के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद इस मामले पर राजनीति शुरू हो गई है। आप और कांग्रेस, दोनों ने ही पूरे घटनाक्रम पर सवाल उठाए हैं। आप ने जहां सभी आतंकियों के एक साथ भागने और एक ही जगह मारे जाने पर सवाल उठाए हैं, वहीं कांग्रेस ने इस मामले में जुडिशल जांच की मांग की है।

आम आदमी पार्टी की विधायक अल्का लांबा ने सोमवार को ट्वीट करके लिखा, ‘आतंकी मारे गए,अच्छा हुआ। 8 आतंकियों का एक साथ भागना, फिर कुछ घंटों बाद एक ही साथ एनकाउंटर में मारे जाना। सरकार के पास “व्यापम” फार्मूला भी था।’ संदिग्ध आतंकियों के मारे जाने को लेकर कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने सवाल उठाए। अल्का ने इन ट्वीट्स को रिट्वीट किया। हालांकि, भोपाल के आईजी ने यह साफ कर दिया है कि उनके पास हथियार थे। पुलिस के मुताबिक, संदिग्ध आतंकियों को सेल्फ डिफेंस में मारा गया है। बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उनके पास से नए कपड़े और खाने का सामान भी मिला। ऐसे में ये सवाल उठने शुरू हो गए हैं कि क्या स्थानीय तौर पर किसी ने इन आतंकियों की मदद की?

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने पूरे घटनाक्रम को साजिश बताते हुए मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की। उन्होंने शक जताया कि आतंकियों को किसी योजना के तहत जेल से भगाया गया। वहीं, कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा, ‘चूंकि अब सारे आतंकी मारे जा चुके हैं और हमें कोई जानकारी नहीं मिल सकती, इसलिए इस बात की जुडिशल जांच होनी चाजिए कि वे कैसे भागे।’
Now we cant get any info as all of them died, there should be a judicial probe to know how they escaped: Kamalnath (Cong) on Simi Terrorists pic.twitter.com/hHVtSN8uq8
— ANI (@ANI_news) October 31, 2016

सरकारी जेल से भागे हैं या किसी योजना के तहत भगाये गये हैं ? जॉंच का विषय होना चाहिये। दंगा फ़साद ना हो प्रशासन को नज़र रखना पड़ेगा।
— digvijaya singh (@digvijaya_28) October 31, 2016
दोनों मिल कर दंगे कराते हैं। खण्डवा से भी जेल तोड़ कर SIMI के लोग भागे और भोपाल की जेल से भी SIMI के लोग भागे।
— digvijaya singh (@digvijaya_28) October 31, 2016
SIMI और बजरंग दल पर मैंने प्रतिबंध लगाने की सिफ़ारिश तत्कालीन NDA सरकार से की थी। उन्होंने SIMI पर तो लगा दिया बजरंग दल पर नहीं लगाया।
— digvijaya singh (@digvijaya_28) October 31,2016

बता दें कि सोमवार तड़के सिमी के आठ आतंकी भोपाल सेंट्रल जेल में एक सुरक्षाकर्मी की हत्या करके फरार हो गए थे। इसके बाद भोपाल समेत पूरे राज्य में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। मामले पर गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से रिपोर्ट भी मांगी थी। वहीं, चार जेल अफसरों को सस्पेंड भी कर दिया गया था। शिवराज ने आतंकियों के भागने की घटना को राजद्रोह के बराबर की लापरवाही करार दिया था। वहीं, आतंकियों पर 5-5 लाख रुपए के इनाम का भी ऐलान किया गया था।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री नंदकुमार चौहान ने जेल से भागे 8 आतंकवादियों को मार गिराने के लिए पुलिस के अधिकारियों, जवानों और अन्य प्रकार का सहयोग करने वाले सभी लोगों को बधाई दी। चौहान ने कहा इस देश और प्रदेश की सरकार किसी भी प्रकार के आतंकवाद को बर्दाश्त करने वाली नहीं है। चौहान ने कहा, ‘जहां तक मुझे जानकारी है, मुख्यमंत्री जी और गृह मंत्री जी आतंकवादियों के भागने के बाद से 2 मिनट भी चैन से सो नहीं पाए।’

TOPPOPULARRECENT