Monday , October 23 2017
Home / Delhi News / संसद की संयुक्त बैठक बुलाकर राम मंदिर का हो फैसला: प्रवीण तोगड़िया

संसद की संयुक्त बैठक बुलाकर राम मंदिर का हो फैसला: प्रवीण तोगड़िया

pravin_togadia_1405930394_1405930396

दिल्ली। एक तरफ जहां भाजपा और केंद्र सरकार बाबा अंबेडकर की याद में सामाजिक समरसता दिवस मनाने में जुटी है, वहीं विश्व हिंदू परिषद ने फिर से राम मंदिर का मुद्दा छेड़ दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वचन की याद दिलाते हुए विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडि़या ने कहा कि संसद की संयुक्त बैठक बुलाकर राम मंदिर निर्माण के लिए रास्ता तैयार करना चाहिए।

पिछले दिनों में विहिप फिर से राम मंदिर पर आंदोलन की राह तैयार करने में जुटा है। अशोक सिंघल ने अपनी मृत्यु से कुछ महीने पहले ही कहा था कि उन्होंने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राम मंदिर की याद दिलाई है। विहिप की ओर से अलग-अलग सांसदों को भी पत्र लिखा जा रहा था। उसके बाद से विहिप ने इसे अशोक सिंघल के प्रति श्रद्धांजलि से भी जोड़ दिया है।

सोमवार को एक सवाल के जवाब में तोगडि़या ने कहा- ‘यह परंपरा रही है कि जब किसी विषय पर एकमत नहीं बन पा रहा हो तो संसद की संयुक्त बैठक बुलाकर निर्णय लिया जाता है। फिर राम मंदिर के मामले में ऐसा क्यों नहीं हो सकता है, मुझे प्रधानमंत्री के वचन पर विश्वास है।

वहीं विहिप के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने दिल्ली सरकार से आग्रह किया कि ऑड इवन फार्मूला 15 अप्रैल की बजाय 16 अप्रैल से लागू करें। उन्होंने कहा कि 15 अप्रैल को रामनवमी है और उसमें जुलूस निकलता है। लिहाजा ऑड इवन से परेशानी होगी। इसे एक दिन के लिए आगे बढ़ा दिया जाना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT