Saturday , October 21 2017
Home / Islami Duniya / सऊदी अरब में तारीख़ी पेशरफ़्त 30 ख़वातीन शूरा कौंसल की अरकान मुक़र्रर

सऊदी अरब में तारीख़ी पेशरफ़्त 30 ख़वातीन शूरा कौंसल की अरकान मुक़र्रर

रियाद, 12 जनवरी: ( ए पी) सऊदी अरब के फ़रमांरवा शाह अबदुल्लाह बिन अबदुल अज़ीज़ ने जुमा को एक तारीख़ी हुक्मनामा जारी किया है जिस के तहत ख़वातीन को भी शाह की शूरा कौंसल का रुकन बनने की मंज़ूरी दे दी गई है।

रियाद, 12 जनवरी: ( ए पी) सऊदी अरब के फ़रमांरवा शाह अबदुल्लाह बिन अबदुल अज़ीज़ ने जुमा को एक तारीख़ी हुक्मनामा जारी किया है जिस के तहत ख़वातीन को भी शाह की शूरा कौंसल का रुकन बनने की मंज़ूरी दे दी गई है।

शाह अबदुल्लाह की जानिब से जारी करदा हुक्म नामे के तहत 150 अरकान पर मुश्तमिल शूरा कौंसल में ख़वातीन के लिए 20 फ़ीसद कोटा मुख़तस किया गया है और इस हुक्मनामे के फ़ौरी बादशाह अबदुल्लाह ने 30 ख़वातीन को मुशावरती असेंबली का रुकन कर दिया है। वाज़िह रहे कि शूरा कौंसल (मुशावरती असेंबली) के अरकान को सऊदी शाह मुक़र्रर करते हैं।

ये कौंसल सऊदी अरब के मुशावरती इदारे के तौर पर काम करती है और ये ज़रूरीयात और हालात के मुताबिक़ क़वानीन के मुसव्वदे तैयार करके शाह अबदुल्लाह को भेजती है। इसके बादशाह इन क़वानीन की मंज़ूरी देते हैं या इनका मुल्क में नफ़ाज़ कर सकते हैं।सऊदी अरब एक क़दामत पसंद मुआशरा है और वहां ख़वातीन पर मुखतलिफ मआशरा पाबंदियां आइद हैं।

TOPPOPULARRECENT