Monday , March 27 2017
Home / Featured News / सच हुआ साथ जीने मरने का वादा

सच हुआ साथ जीने मरने का वादा

मध्य प्रदेश के भिंड में एक बुजुर्ग जोड़ों के सात फैरों के समय किया गया साथ जीने मरने का वादा बिल्कुल सच साबित हुआ। शहर के एक स्थानीय व्यापारी जवाहर लाल जैन (85 वर्ष) ने कल अपनी पत्नी लाली देवी (82) के अंतिम संस्कार का भुगतान करने के कुछ ही घंटों बाद अपनी जान दे दी।

दोनों का अंतिम संस्कार एक ही दिन किया गया। परिवार के सूत्रों के अनुसार लाली का कल सुबह बीमारी के कारण निधन हो गया। पत्नी के निधन के बाद पति को ऐसा सदमा पहुंचा कि उन्हें तुरंत जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया। आईसीयू में भर्ती जैन ने अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार में शामिल होने की जिद की, जिसके कारण उन्हें अस्पताल से श्मशान घाट ले जाया गया।

उन्होंने अपनी पत्नी के सभी अंतिम संस्कार भुगतान किया। इसके बाद उन्हें फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया। जीन की तबीयत खराब होने पर शाम को उन्हें ग्वालियर ले जाया गया, रास्ते में उनका भी देहांत हो गया। परिजनो ने तुरंत कल उनका भी अंतिम संस्कार करदिया। जोड़ी ने जीवन के 63 साल साथ बिताए थे। परिवार में सात बेटे, एक बेटी और एक दर्जन से अधिक पोते और नवासे हैं।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT