Tuesday , August 22 2017
Home / Delhi News / सत्याग्रह अभियान में की गयी मांग , भोपाल एनकाउंटर की जांच सुप्रीम कोर्ट से करवाई जाए

सत्याग्रह अभियान में की गयी मांग , भोपाल एनकाउंटर की जांच सुप्रीम कोर्ट से करवाई जाए

नई दिल्ली : जनआन्दोलन ‘सत्याग्रह अभियान’ में कहा गया कि आरएसएस का खास मक़सद देश के मुसलमानों को दुश्मनों के तौर पर दिखाते हुए हिन्दुओं और मुसलमानों के बीच संघर्ष करवाना है |

ये अभियान 31 अक्टूबर को भोपाल में कथित फर्ज़ी मुठभेड़ में मारे गये आठ अंडर ट्रायल क़ैदियों और एक पुलिस कांस्टेबल मामले की जाँच सुप्रीम कोर्ट कि निगरानी में करवाने के लिए आयोजित किया गया | इस अभियान में भारत में ‘फर्जी मुठभेड़’ की राजनीति पर चिंता व्यक्त की गयी  |

इस अभियान में गुजरात दलित नेता जिग्नेश मेवानी और एडवोकेट शमशाद पठान भी शामिल हुए | एडवोकेट शमशाद पठान ने कहा कि फर्जी मुठभेड़ की राजनीति नरेंद्र मोदी द्वारा  प्रधानमंत्री पद पाने के लिए शुरू की गयी थी | हम सभी जानते हैं कि कैसे सादिक जमाल, इशरत जहां, सोहराबुद्दीन शेख और तुलसी प्रजापति को लश्कर आतंकी कहकर उनका फर्ज़ी एन्काउंटर कराया गया | यही फर्जी मुठभेड़ की राजनीति अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा दोहरायी जा रही है | पठान ने कहा कि वह जल्द ही अगले आम चुनाव से पहले प्रधानमंत्री के पद के लिए अपनी उम्मीदवारी पेश कर सकते हैं |

जिग्नेश मेवानी ने कहा कि देश में व्यापक स्तर पर अखिल भारतीय दलित-मुस्लिम ओबीसी गठबंधन बनाया जाना चाहिए | उन्होंने कहा कि इन समुदायों को देश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेतृत्व वाली सेनाओं से लड़ने के लिए एक मंच पर आना होगा |गुजरात के विकास मॉडल की पोल खोते हुए उन्होंने कहा कि मोदी, वाइब्रेंट गुजरात सम्मिट की मेज़बानी कर नकली गुजरात मॉडल पेश करते हैं | जबकि गुजरात में वास्तविक निवेश कभी नहीं आया| उन्होंने कहा कि कैग ने राज्य में घोटाले के बाद घोटाले को उजागर किये हैं । आर्थिक चुनौतियों से परेशान मोदी खुद को बचाने के लिए मुठभेड़, हत्याओं की राजनीति पर उतर आए। पाटीदार और दलित आंदोलनों गुजरात मॉडल की विफलता का उदाहरण हैं|

पॉलिटिक्ल एक्टिविस्ट  अमीक़ जामेई ने कहा कि भोपाल मुठभेड़ में जो आठ अंडर ट्रायल कथित सिमी कार्यकर्ता को मारे गये हैं, ये कॉल्ड ब्लडेड मर्डर है | उन्होंने कहा कि कांस्टेबल की भी हत्या की गयी है | जामेई ने इसे संविधान पर हमला बताया है | उन्होंने इस मुठभेड़ को फर्ज़ी करार देते हुए इस घटना की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में करवाने की मांग की है |उन्होंने कहा  कि संविधान में ऐसा कोई नियम नहीं है कि अपराधिक घटनाओं  में शामिल आरएसएस कार्यकर्ताओं के ख़िलाफ़ मध्य प्रदेश पुलिस मामला दर्ज नहीं कर सकती है |

जामिया नगर के एक्टिविस्ट  परवेज़ आलम खान ने कहा कि भाजपा-आरएसएस सरकार धारणा की राजनीति करते हुए दोनों समुदायों के बीच संघर्ष पैदा करने की कोशिश कर रही है | उन्होंने कहा कि ये उत्तर प्रदेश में चुनाव जीतने के लिए दोनों समुदाय से फूट डालना चाहते हैं | इसी मक़सद से राम और रहीम के बीच विवाद पैदा किया जा रहा है | उन्होंने कहा कि आईएसओ जेल के ताले लकड़ी और स्टील के चम्मच से कैसे खोला जा सकता है? उन्होंने कहा कि देश की आंतरिक सुरक्षा को सबसे बड़ा खतरा आरएसएस-विहिप से है |

जेएनयूएसयू अध्यक्ष मोहित पांडेय ने मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाला के बारे में बात करते हुए कहा कि इसकी जाँच से जुड़े कम से कम 55 लोगों की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गयी | उन्होंने आरोप लगाया कि बाटला हाउस मुठभेड़ फर्ज़ी थी | इसमें  जामिया के छात्रों को “कथित तौर पर फंसाया और मारा गया था |

जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्र नेता मीरन हैदर ने देश में पढ़े-लिखे मुस्लिम युवकों को आतंकवाद के फर्ज़ी आरोपों में फंसाने पर चिंता व्यक्त की | उन्होंने कहा कि नौजवान पढ़लिखकर डॉक्टर, इंजीनियर बनना चाहते हैं लेकिन एजेंसियों द्वारा उन्हें आतंकी मामलों में फंसा दिया जाता है |

सत्याग्रह अभियान के तहत भोपाल में कथित फर्ज़ी मुठभेड़ में मारे गये के नौ लोगों को न्याय दिलाने के लिए 13 नवंबर को जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन भी किया गया |

TOPPOPULARRECENT