Wednesday , September 20 2017
Home / Uttar Pradesh / सपा यूपी चुनाव में युवाओं के बूते खेलेगी बड़ा दावं

सपा यूपी चुनाव में युवाओं के बूते खेलेगी बड़ा दावं

Uttar Pradesh Chief Minister and Samajwadi Party leader Akhilesh Yadav addressing a news conference ahead of party's rally in Ranchi, Jharkhand on September 4, 2013. (Photo:IANS)

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी एवं कांग्रेस की आक्रामक चुनावी रणनीति से दबाओ में आई समाजवादी पार्टी ने भी अपने सियासी चाल में बड़ा बदलाओ किया है। अब युथ ब्रिगेड की मदद से चुनावी वैतरणी पार करने को बिसात बिछाया जा रहा है। इसकी बानगी सोमवार को सपा मुख्यालय में देखने को मिलेगी जब पार्टी मुख्या मुलायम सिंह के सामने सैंकड़ों की संख्या में युवा महिलाएं सपा में शामिल की जाएंगी।
इसबार के चुनाव में सपा ने युवाओं को खास तरजीह देने का फैसला लिया है। हालाँकि यह अभी स्पष्ट नहीं है कि टिकट बटवारे में इनको कितनी भागीदारी मिलेगी, पर इसके संकेत ज़रूर मिलने लगे हैं कि वॉर रूम से लेकर बूथ तक युवा ब्रिगेड को महत्त्वपुर्ण काम दिया जाएगा। अभी दूसरी पार्टियों के मुकाबले सपा के फ्रंट संगठन समाजवादी युवजन सभा, छात्र सभा, लोहिया वाहिनी और मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड हैं। कांग्रेस के पीके और भाजपा की तोड़ फोड़ की आक्रामक चाल को देखते हुआ सपा ने युवा संगठनों में चाभी भरना प्रारंभ कर दिया है। इसके साथ युवा कार्यकर्ताओं की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। इनकी मदद से अखिलेश सरकार के काम काज और पार्टी की नीतियों को प्रदेश की जनता तक पहुँचाने की योजना है। युवा संगठनों में जोश भरने के लिए अब अखिलेश भी उनकी बैठकों में नियमित शामिल होंगे। हालाँकि युवा महिलाओं को पार्टी में शामिल किए जाने के समाजवादी युवजन सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास यादव कुछ और ही तर्क दे रहे हैं। यह अलग बात है कि उनकी दलील इस मामले में बेहद कमज़ोर है। उनका कहना है कि अखिलेश सरकार ने महिला सुरक्षा को लेकर जो उम्दा काम किए हैं उससे सूबे की युवा महिलाएं बेहद प्रभावित हैं, इसलिए सपा से जुड़ना चाहती हैं। हम तो पार्टी में शामिल कर उनका सम्मान कर रहे हैं। पहली खेप में 500 महिलाएं शामिल होंगी। इसके आलावा 17 अगस्त को युवजन सभा की नवगठित कार्यकारिणी की पहली बैठक होगी जिसमें चुनाव की रणनीति पर चर्चा होगी।

लखनऊ से एमए हाशमी की रिपोर्ट

TOPPOPULARRECENT