Monday , August 21 2017
Home / Uttar Pradesh / सपा से निलंबित विधायक आबिद रज़ा ने वक्फ़ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया

सपा से निलंबित विधायक आबिद रज़ा ने वक्फ़ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया

लखनऊ। गंगा नदी में अवैध खनन कराने और पिछले दरवाज़े से गोमांस के कारोबार को बढ़ावा देने का आरोप लगा कर अपनी ही पार्टी के सांसद धर्मेन्द्र यादव के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले विधायक आबिद रज़ा ने उत्तर प्रदेश वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने विधायक का पद त्यागने की भी धमकी दी है।
उन्होंने सपा के राज्यसभा सांसद अमर सिंह के प्रति हमदर्दी जताते और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नाम लिए बगैर कहा कि पार्टी की तीसरी पीढ़ी की नज़रों में पुराने लोगों की कोई अहमियत नहीं।
बता दें कि दो दिनों पहले अमर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए अपने और अपनी अज़ीज़ पूर्व सिने तारिका जयादा प्रदा को सपा में महत्त्व नहीं दिए जाने पर नाराज़गी जताई थी। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की खुले तौर पर आलोचना करते हुए कहा था कि फोन करने पर वह कभी लाइन पर नहीं आते। उनके सचिव की ओर से हर बार एक ही जवाब मिलता है कि उनका नाम सूची में शामिल कर लिया गया है । जल्द ही बात करा दी जायेगी।
सपा से निलंबित विधायक आबिद रज़ा कहते हैं कि वह पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह की अपार इज्जत करते हैं, पर तीसरी पीढ़ी के नेताओं ने पार्टी का बेड़ा गर्क कर दिया है। रज़ा ने पत्रकारों के समक्ष कहा कि वह मानसून सत्र के दौरान सदन के पटल पर पार्टी के सांसद धर्मेन्द्र यादव की करतूतें रखना चाहते थे, पर उन्हें सदन में जाने से रोका जा रहा है। एक तरह से वह अभी जिस होटल में हैं, उसमें नज़रबंद हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि सांसद की कारगुज़रिओं के कारण पिछले लोकसभा चुनाव में बदायूं में सपा की भद पिट गई थी। उनका यह भी आरोप है कि केबल डालने के नाम पर पूरा बदायूं शहर खोद डाला गया है। इसका ठेका पार्टी से जुड़े एक दबंग व्यक्ति को दिया गया है। उन्होंने ने आज़म खान को डिप्टी सी एम बनाने की भी मांग की।

TOPPOPULARRECENT