Thursday , September 21 2017
Home / Sports / सरकारी गेस्ट हाउस में चौकीदारी कर रहे फुटबॉल टीम का राष्ट्रीय खिलाड़ी

सरकारी गेस्ट हाउस में चौकीदारी कर रहे फुटबॉल टीम का राष्ट्रीय खिलाड़ी

कोलकाता : कभी भारतीय फुटबॉल टीम का हिस्सा रहे तपन घोष आज सुविधाओं के अभाव में जीवन जीने को मजबूर हैं। राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी रह चुके तपन आज उत्तर 24 परगना जिले के बासिरहाट में स्थित एक सरकारी गेस्ट हाउस में चौकीदारी कर रहे हैं। बतौर फुटबॉल खिलाड़ी तपन ने जीवन में उतार-चढ़ाव देखे होंगे, लेकिन फुटबॉल करियर समाप्त होने के बाद उनकी जिंदगी में ऐसा अंधेरा छाया, जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। आज तपन अपने सुनहरे अतीत को याद भी नहीं करना चाहते।

जब उनसे फोन पर संपर्क किया गया, तो उन्होंने कहा, ‘मुझे यह सोचकर शर्म आती है कि कभी मैं भारतीय टीम के लिए खेला हूं। मैंने बहुत संघर्ष किया है और चुनौतियों का सामना किया है। कभी कोई मेरी मदद के लिए नहीं आया। कृपया आप मेरे बारे में कुछ न लिखें।’ (उन्होंने अपनी कोई फोटो दिखाने से भी साफ इनकार कर दिया।) तपन एक साल से ज्यादा समय तक टीम इंडिया के लिए फुटबॉल खेले। साल 2000 में वह मालदीव गोल्ड कप टूर्नमेंट में खेलने के लिए मालदीव भी गए थे। इस टीम में बाइचुंग भुटिया और आईएम विजयन जैसे नामी खिलाड़ी भी टीम का हिस्सा थे।

इस टूर्नमेंट के बाद यह डिफेंडर खिलाड़ी तकनीकी निर्देशक प्रदीप बैनर्जी और कोच सुखबिंदर सिह के नेतृत्व में इंग्लैंड दौरे पर गया। तपन के बारे में जब उनके साथ खेल चुके आईएम विजयन से फोन पर बात की, तो 16 साल बाद भी विजयन ने उन्हें तुरंत पहचान लिया। विजयन के बताया, ‘तपन जुझारू फुटबॉल खिलाड़ी थे और वह हार नहीं मानते थे। यह बहुत ही दुखदायी है कि ऐसे उम्दा खिलाड़ी को नौकरी नहीं मिल पाई। केरला में, जो भी खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम के लिए खेलता है, उसे राज्य सरकार की ओर से नौकरी मिलती है।’

TOPPOPULARRECENT