Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / सरकारी तक़र्रुत में उम्र की हद में 2 साल इज़ाफे की तजवीज़

सरकारी तक़र्रुत में उम्र की हद में 2 साल इज़ाफे की तजवीज़

तेलंगाना में बरसरे इक़तिदार टी आर एस हुकूमत से अवाम बिलख़सूस तालीम-ए-याफ़ता बेरोज़गार नौजवानों को कई तवक़्क़ुआत वाबस्ता हैं।

तेलंगाना में बरसरे इक़तिदार टी आर एस हुकूमत से अवाम बिलख़सूस तालीम-ए-याफ़ता बेरोज़गार नौजवानों को कई तवक़्क़ुआत वाबस्ता हैं।

चुनाव मुहिम के दौरान और फिर पार्टी के चुनाव मंशूर में चंद्रशेखर राव‌ ने तमाम सरकारी मख़लवा जायदादों पर तक़र्रुत का एलान किया था।

अब जबकि टी आर एस हुकूमत के तीन माह मुकम्मिल होचुके हैं तेलंगाना के नौजवानों को तक़र्रुत के सिलसिले में हुकूमत की कोशिश का इंतेज़ार है।

आंध्र प्रदेश हुकूमत ने सरकारी मुलाज़िमीन के लिए वज़ीफे की उम्र की हद में 2 साल का इज़ाफ़ा करते हुए 58 से 60 कर दिया जिस के बाइस आंध्र प्रदेश से ताल्लुक़ रखने वाले हज़ारों सरकारी मुलाज़िमीन को फ़ायदा हासिल होगा।

दूसरी तरफ़ तेलंगाना हुकूमत ने तालीम-ए-याफ़ता बेरोज़गार नौजवानों को रोज़गार के मवाक़े फ़राहम करने के लिए वज़ीफ़ा पर सुबकदोशी की हद में इज़ाफे से इनकार किया और बहुत जल्द मख़लवा जायदादों पर तक़र्रुत का एलान किया है।

टी आर एस हुकूमत ने तक़रीबन 40 हज़ार कॉन्ट्रैक्ट मुलाज़िमीन की ख़िदमात बहाल करने का फ़ैसला किया जिस पर नौजवानों में बेचैनी फैल गई ताहम हुकूमत ने वज़ाहत की के इन मुलाज़िमीन की ख़िदमात मुस्तक़िल करने से नए तक़र्रुत का अमल मुतास्सिर नहीं होगा और ना ही तालीम-ए-याफ़ता नौजवानों से नाइंसाफ़ी होगी।

तेलंगाना हुकूमत जलद ही अलाहिदा तेलंगाना पब्लिक सरविस कमीशन की तशकील के ज़रीये तक़र्रुत का अमल शुरू करना चाहती है। एक अंदाज़ा के मुताबिक़ नए तक़र्रुत का अमल शुरू करने की सूरत में पब्लिक सरविस कमीशन के ज़रीये तक़रीबन 10 हज़ार से ज़ाइद मख़लवा जायदादों पर पहले मरहले में तक़र्रुत होंगे।

तक़र्रुत के सिलसिले में मुक़र्ररा उम्र की हद को लेकर नौजवानों में बेचैनी पाई जाती है खासतौर पर एसे अफ़राद जिन्हें आंध्रई हुकूमत के दौरान तक़र्रुत से महरूम कर दिया गया था।

वाज़िह रहे कि हैदराबाद को फ़्री ज़ोन क़रार देते हुए कॉन्ट्रैक्ट और दुसरे बुनियादों पर मख़लवा जायदादों पर आंध्र से ताल्लुक़ रखने वाले अफ़राद की भर्ती की गई जिस से तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले हज़ारों नौजवान रोज़गार के मवाक़े से महरूम होगए।

अब जबकि एसे नौजवानों के लिए तक़र्रुत का मौक़ा हासिल हुआ है उन्हें इस बात का अंदेशा हैके तक़र्रुत के लिए उम्र की मुक़र्ररा हद उनके मवाक़े मुतास्सिर करसकती है।

सरकारी जायदादों पर तक़र्रुत की मौजूदा हद 34 साल है और आंध्रई हुकमरानों की नाइंसाफ़ी का शिकार एसे हज़ारों नौजवान हैं जो उम्र की इस हद को पार करचुके हैं। ज़रूरत इस बात की हैके चंद्रशेखर राव‌ हुकूमत तक़र्रुत के लिए उम्र की हद में कम अज़ कम दो साल की रियायत दे ताकि आंध्रई हुकूमतों की नाइंसाफ़ी के शिकार नौजवानों को इंसाफ़ मिल सके।

तेलंगाना तहरीक के दौरान ख़ुद टी आर एस ने हैदराबाद को फ़्री ज़ोन क़रार देते हुए तेलंगाना से की गई नाइंसाफ़ीयों के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई थी। एक अंदाज़ा के मुताबिक़ तेलंगाना में एसे हज़ारों नौजवान हैं जो उम्र की इस हद को पार करचुके हैं और अगर हुकूमत दो साल की रियायत देती है तो एसे नौजवानों को रोज़गार हासिल होजाएगा। तेलंगाना के नौजवानों से इंसाफ़ का वाअदा करनेवाली टी आर एस हुकूमत से उम्मीद की जा रही हैके वो पब्लिक सरविस कमीशन के ज़रीये तक़र्रुत के आग़ाज़ के वक़्त उम्र की हद में दो साल का इज़ाफ़ा करेगी।

TOPPOPULARRECENT