Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / सरकारी दवा ख़ानों में 80 फ़ीसद जायदादें मखलूआ (खाली), तिब्बी ख़िदमात मुतास्सिर

सरकारी दवा ख़ानों में 80 फ़ीसद जायदादें मखलूआ (खाली), तिब्बी ख़िदमात मुतास्सिर

रियासत में तिब्बी सहूलयात के फ़ुक़दान पर आज हुकूमत को अपोज़ीशन-ओ-हलीफ़ जमातों की ब्रहमी का सामना करना पड़ा। ऐवान में वकफ़ा-ए-सवालात के दौरान मुख़्तलिफ़ पार्टीयों से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान असेंबली ने रियासत में तिब्बी सहूलया

रियासत में तिब्बी सहूलयात के फ़ुक़दान पर आज हुकूमत को अपोज़ीशन-ओ-हलीफ़ जमातों की ब्रहमी का सामना करना पड़ा। ऐवान में वकफ़ा-ए-सवालात के दौरान मुख़्तलिफ़ पार्टीयों से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान असेंबली ने रियासत में तिब्बी सहूलयात के बेहतर ना होने की शिकायत करते हुए इल्ज़ाम आइद किया कि रियासत में तिब्बी सहूलयात का फ़ुक़दान है। तेलगुदेशम रुक्न असेंबली जी मुद्दो करिशण्मा नायडू ने इल्ज़ाम आइद किया कि रियासत के सरकारी दवा ख़ानों में 80 फ़ीसद से ज़ाइद जायदादें मखलूआ (खाली) हैं जहां पर डॉक्टर्स मौजूद नहीं हैं और जो हैं वो पाबंदी से नहीं आते। इलावा अज़ीं बाअज़ दवा ख़ानों में पैरा मैडीकल स्टाफ़ की कमी के सबब अवाम मुश्किलात का सामना कररहे हैं।

इन के इलावा मिस्टर ऐम नरसमहलु ने सरकारी दवा ख़ानों में अदवियात की क़िल्लत का मसला ज़ेर-ए-बहस लाते हुए कहा कि कई दवा ख़ानों में एमरजैंसी ख़िदमात की अदवियात भी मौजूद नहीं हैं। सी पी आई फ़्लोर लीडर मिस्टर जी मलीश, अरकान असेंबली मिस्टर जय रंगा रेड्डी, डाक्टर जए प्रकाश ना रायना, मिस्टर सुर्यकांत रेड्डी, मिस्टर ई दिया कर राओ, मसरज़ ओमा माधव रेड्डी के इलावा दीगर ने भी हुकूमत को तिब्बी सहूलयात के मसला पर तन्क़ीद का निशाना बनाया।

रुक्न असेंबली मिस्टर सी लनगया के इलावा दीगर अरकान असेंबली की जानिब से किए गए सवालात का जवाब देते हुए रियास्ती वज़ीर-ए-सेहत डाक्टर रवींद्र रेड्डी ने इस बात का एतराफ़ किया कि रियासत में 137 प्राइमरी हैल्थ सेंटरस क़ायम किया जाना बाक़ी है।

इलावा अज़ीं 120 कम्यूनिटी हॉस्पिटल्स बहुत जल्द क़ायम किए जाऐंगे। उन्हों ने बताया कि 2004-तक की रियासत का बजट बराए सेहत सिर्फ 62 करोड़ था जबकि कांग्रेस ने इक़तिदार सँभालने के बाद इस साल 362 करोड़ रुपये तिब्बी सहूलयात की फ़राहमी पर ख़र्च करने का फ़ैसला किया है। उन्हों ने बताया कि हुकूमत एक प्राइमरी हैल्थ सैंटर पर 2 लाख रुपये सह माही ख़र्च कर रही है।

डाक्टर रवींद्र रेड्डी ने सिविल सर्जन्स की जायदादों के के मखलूआ (खाली) होने का भी एतराफ़ करते हुए कहा कि रियासत में 652 सिविल सर्जन्स की जायदादें मखलूआ (खाली) हैं जिन में 252 जायदादों पर तक़र्रुरात के लिए बहुत जल्द आंधरा प्रदेश पब्लिक सरविस कमीशन की जानिब से आलामीया जारी किया जाएगा। इलावा अज़ीं ज़िला कलक्टरस को हिदायत दी गई है कि 400 जायदादों पर कोंट्रएक्ट के असास पर डॉक्टर्स का तक़र्रुर करें। उन्हों ने ऐवान को इस बात का तय्क्कुन दिया कि हुकूमत ख़िदमात की अंजाम दही में कोताही करने वाले डॉक्टर्स के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करेगी।

TOPPOPULARRECENT