Tuesday , October 17 2017
Home / Khaas Khabar / सरकारी मुला़जिमीन को हेल्थ कार्ड

सरकारी मुला़जिमीन को हेल्थ कार्ड

रियासती हुकूमत ने देर आयद दरुस्त आयद के मिस्दाक़ रियासत के 14 लाख सरकारी मुलाज़िमीन, पेंशनरों और उनके अफ़रादे ख़ानदान के लिए मुफ़्त तिब्बी ख़िदमात की फ़राहमी के मक़सद से दीपावली के तोहफ़ा के तौर पर हेल्थ कार्ड्स की इजराई के अहकाम जारी किए

रियासती हुकूमत ने देर आयद दरुस्त आयद के मिस्दाक़ रियासत के 14 लाख सरकारी मुलाज़िमीन, पेंशनरों और उनके अफ़रादे ख़ानदान के लिए मुफ़्त तिब्बी ख़िदमात की फ़राहमी के मक़सद से दीपावली के तोहफ़ा के तौर पर हेल्थ कार्ड्स की इजराई के अहकाम जारी किए।

रियासती चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने अपने एक प्रेस नोट में इस बात का ऐलान किया और बताया कि मुल्क भर में अपनी नौईयत की मुनफ़रिद और पहली मर्तबा सरकारी मुलाज़िमीन, वज़ीफ़ायाबों और उनके अरकाने ख़ानदान के लिए किसी रक़म के बगै़र हेल्थकार्ड रियासती हुकूमत बहुत जल्द जारी करेगी।

इस सिलसिले में चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने रियासती वुज़रा ए. राम नारायण रेड्डी, वज़ीर फ़ैनान्स. के. मुरली, वज़ीर-ए-सेहत-ओ-तिब्बी तालीम. डॉ. पी के मोहंती, रियासती चीफ़ सेक्रेटरी और दीगर मुताल्लिक़ा ओहदादारों के साथ इजलास मुनाक़िद करके सरकारी मुलाज़िमीन के लिए तिब्बी निगहदाशत और तिब्बी सहूलतों की फ़राहमी स्कीम पर तफ़सीली जायज़ा लिया और फ़ौरी तौर पर हेल्थ कार्ड जारी करने का फ़ैसला किया और बताया कि इस स्कीम के तहत हर साल तक़रीबन चार सौ करोड़ रुपये के मसारिफ़ आइद होंगे। जबकि सरकारी मुलाज़िमीन, वज़ीफ़ायाबों और उनके अरकाने ख़ानदान के लिए किसी रक़म के बगै़र आरोग्य श्री स्कीम (हेल्थ स्कीम) के तहत क़ब्लअज़ वक़्त कोई रक़म अदा किए बगै़र ख़ानगी हॉस्पिटल्स में ईलाज करवाने की सहूलत फ़राहम की गई। इस स्कीम की अमल आवरी के तरीका-ए-कार पर छः माह बाद तफ़सीली जायज़ा लिया जाएगा और कोई ख़ामी या कोताही पाई जाने पर नज़रसानी करके उसे दूर करने के इक़दामात किए जाऐंगे।

चीफ़ मिनिस्टर ने बताया कि इस हेल्थ स्कीम के तहत मौजूदा पाए जाने वाले 1885 मुख़्तलिफ़ नौईयत के अमराज़ वग़ैरा के इलावा मज़ीद दीगर नौईयत के अमराज़ का भी ईलाज करवाने की सहूलत फ़राहम की गई है। उन्होंने कहा कि इस स्कीम के तहत कोई रक़म डिपाज़िट करवाए बगै़र ख़ानगी हॉस्पिटल्स में ईलाज करवाने की सहूलत फ़राहम की गई है। उन्होंने बताया कि इस हेल्थ स्कीम के ज़रिये 8.60 लाख सरकारी मुलाज़िमीन, 5.40 लाख वज़ीफ़ायाब, जुमला 14 लाख ख़ानदानों से ताल्लुक़ रखने वाले 70 लाख अफ़राद को फ़ायदा पहुंचेगा और ईलाज पर आइद होने वाले मसारिफ़ रियासती हुकूमत आरोग्य श्री ट्रस्ट के ज़रिये दवाख़ानों को अदा करेगी। बताया गया है कि सरकारी मुलाज़िमीन की तनख़्वाहों को पेशे नज़र रखते हुए ईलाज करवाने के लिए हर माह मुलाज़िमीन से 901 रुपये या 120 रुपये बतौर प्रीमीयम हासिल करने का फ़ैसला किया गया। रक़म के बगै़र हेल्थ स्कीम की अमल आवरी की मुकम्मल ज़िम्मेदारी फ़िलवक़्त आरोग्य श्री ट्रस्ट को सौंपी गई है और आइन्दा मुस्तक़बिल में एक ख़ुसूसी ट्रस्ट की तशकील अमल में लाने की भी तवक़्क़ो है। इस स्कीम के तहत हर सरकारी मुलाज़िम, वज़ीफ़ायाब और उनके अरकाने ख़ानदान को सालाना किसी तहदीदात के बगै़र तिब्बी ख़िदमात हासिल करने का मौक़ा फ़राहम करना ही इस हेल्थ स्कीम का अहम मक़सद है। ईलाज मुआलिजा के मसारिफ़ मुक़र्ररा रक़ूमात से तजावुज़ कर जाने की सूरत में भी आरोग्य श्री ट्रस्ट रक़ूमात दवा ख़ानों को अदा करेगी, लिहाज़ा रियासत के तमाम सरकारी मुलाज़मीन, वज़ीफ़ा याब और उनके अफ़राद ख़ानदान को दीपावली की मुबारकबाद पेश करते हुए चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने इस हेल्थ स्कीम से इस्तिफ़ादा की अपील की है।

TOPPOPULARRECENT