Thursday , October 19 2017
Home / Business / सस्ता हुआ गैस सिलिंडर आधार और बैंक अकाउंट्स की ज़रूरत नहीं

सस्ता हुआ गैस सिलिंडर आधार और बैंक अकाउंट्स की ज़रूरत नहीं

पकवान गैस सारिफ़ीन को अब गैस सिर्फ़ 479.50 रुपये में ही हासिल होगी। हुकूमत ने आधार कार्ड और बैंक एकाऊंटस से मुंसलिक जो सब्सीडी स्कीम शुरू की थी इस से दसतबरदारी इख़तियार करली गई है।

पकवान गैस सारिफ़ीन को अब गैस सिर्फ़ 479.50 रुपये में ही हासिल होगी। हुकूमत ने आधार कार्ड और बैंक एकाऊंटस से मुंसलिक जो सब्सीडी स्कीम शुरू की थी इस से दसतबरदारी इख़तियार करली गई है।

इस सिलसिले में मर्कज़ी हुकूमत की तरफ से एलपी जी डीलर्स को अहकाम जारी करदिए गए हैं। पकवान गैस सारिफ़ीन को मर्कज़ी हुकूमत ने साल में 12 सिलिंडर रियायती क़ीमत पर देने का फ़ैसला किया है जोकि अब तक इज़ाफ़ी शूदा क़ीमत में ख़रीदे जा रहे थे और सब्सीडी की रक़म एकाऊंट में मुंतक़िल की जा रही थी जिस में होने वाली परेशानीयों को देखते हुए पकवान गैस को जिस तरह आधार कार्ड से मुंसलिक किया गया था इसे ख़त्म कर दिया गया है।

इस सिलसिले में अदालत ने भी अहकाम जारी किए थे। अदालती अहकामात के बाद सब्सीडी की रक़म की इजराई के मसले पर हुकूमत ग़ौर कररही थी और अब ये फ़ैसला करलिया गया है कि हसब-ए-साबिक़ सब्सीडी की रक़म एलपी जी डीलर्स को जारी की जाएगी।

फ़िलहाल पकवान गैस के घरेलू सलेंडर की क़ीमत 1220 रुपये 50 पैसे है जिस में 741रुपये की सब्सीडी हुकूमत की तरफ से फ़राहम की जा रही है।

इस तरह सारिफ़ीन को अब ये सिलिंडर 479.50 रुपये में हासिल होगा। सरकारी अहकामात की इजराई के सिलसिले में पेट्रोलीयम कंपनीयों की एसोसीएशन के ओहदेदारों ने ये बात बताई।

हुकूमत ने पेट्रोलीयम कंपनीयों को जारी करदा सर्कुलर में इस बात की भी वज़ाहत की है कि जिन लोगों को सब्सीडी की रक़म ताहाल मौसूल नहीं हुई है उन्हें परेशान होने की ज़रूरत नहीं है चूँकि हुकूमत जिन की सब्सीडी के बक़ायाजात हैं वो उन के एकाऊंट में ही रवाना करेगी।

अब आइन्दा जो सिलिंडर ख़रीदे जाऐंगे वो रियायती क़ीमत में ही ख़रीदे जाएं चूँकि अब तक के बक़ायाजात की अदायगी रास्त सारिफ़ीन के एकाऊंट में होगी जबकि इस माह से सब्सीडी की रक़म एलपी जी डीलर्स के एकाऊंट में पहुंचाई जाएगी। ज़राए से मौसूला इत्तेला के बमूजब हुकूमत ने एलपी जी सिलिंडर और एकाऊंट को जिस अंदाज़ से मुंसलिक किया गया था उसे भी बरक़रार रखेगी ताकि मुस्तक़बिल में बेहतर नज़म के साथ इस स्कीम को दुबारा राइज किया जा सके।

TOPPOPULARRECENT