Wednesday , August 16 2017
Home / Khaas Khabar / सहकारी बैंकों में पिछली तारीख से फिक्स डिपोजिट खाता खोलने की सुविधा!

सहकारी बैंकों में पिछली तारीख से फिक्स डिपोजिट खाता खोलने की सुविधा!

मुंबई : ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित कुछ सहकारी बैंकों के जरिए भ्रष्ट नेताओं ने नया रास्ता निकाल लिया है। ग्रामीण क्षेत्रों के ये सहकारी बैंकों में अभी तक कोई कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम मौजूद नहीं हैं। यहां अभी भी लिखित बही खातों का इस्तेमाल होता है। इस तरह से भ्रष्ट नेताओं की मदद कर रहे हैं सहकारी बैंक। ये सहकारी अपने ग्राहकों से नकद राशि लेकर पिछली तारीख का फिक्स डिपोजिट खाता खोलने की सुविधा दे रहे हैं। ये सहकारी बैंक डिमांड ड्राफ्ट भी जारी करके इसके बदले में लोगों को कैश दे रहे हैं। ये सभी सुविधाएं खासतौर से नेताओं और राजनीतिज्ञों को दी जा रही है।

बैंकिंग सेक्टर से जुड़े लोगों का कहना है कि नोटबंदी के बाद कुछ लोग बीच का रास्ता ढूंढ रहे हैं। डिमांड ड्रॉफ्ट के बदले में लोग नए नोट ले रहे हैं। यूं तो दूसरे सभी बैंक भी लोगों का पुराना पैसा लेकर उन्हे नई करेंसी दे रहे हैं। आरबीआई जल्द जारी करेगा इसे रोकने के लिए नए नियम मगर ये सहकारी बैंक कालेधन को खपाने में भी उन प्रभावशाली लोगों का साथ दे रहे हैं जो इसमें फंस सकते थे। सहकारी बैंकों से लोग डिमांड ड्राफ्ट और पे ऑर्डर खरीद रहे हैं। उनके बीच में यही सौदा हो रहा है कि इस सुविधा से ग्राहक किसी दूसरे बैंक में कैश लेने ना जाए। पुरानी तारीख के ये डिमांड ड्राफ्ट और पे ऑर्डर बनाकर लोग नए नोट ले रहे हैं।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारी इस लूपहोल को ठीक करने का कोई रास्ता निकाल रहे हैं। जो सहकारी बैंक अभी तक कम्प्यूटराइज्ड नहीं हुए हैं उनमें ही इस तरह का गोरखधंधा हो रहा है। मंगलवार को सेंट्रल बैंक ने एक प्रेस रिलीज जारी करके सभी सहकारी बैंकों को चेतावनी दी थी।

TOPPOPULARRECENT