Monday , August 21 2017
Home / Religion / सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल बन कांवड़ियों की सेवा कर रहीं मुस्लिम छात्राएं

सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल बन कांवड़ियों की सेवा कर रहीं मुस्लिम छात्राएं

झारखंड: देवघर स्थित प्रसिद्ध तीर्थस्थल बैद्यनाथ धाम में सावन के इस पवित्र महीने में 12वीं की दो छात्राएं सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश कर रही हैं। स्थानीय कॉलेज की दो मुस्लिम छात्राएं सुबह से शाम तक कांवड़ियों की सेवा में जुटी हुई हैं और कांवड़ियों को पंक्तिबद्ध करने में प्रशासन की मदद कर रही हैं।

बैद्यनाथ धाम में भगवान शंकर के द्वादश ज्योतिर्लिगों में नौवां ज्योतिर्लिंग है। वैसे तो यहां सालभर भक्तों की भीड़ जुटती है, लेकिन महादेव के प्रिय महीने सावन में भक्तों की भीड़ काफी बढ़ जाती है।

पहली बार ऐसे धार्मिक कामों में कांवड़ियों की मदद कर रही स्थानीय रामादेवी महिला बाजला कॉलेज की छात्रा ने कहा “आगे जब भी ऐसा मौका मिलेगा, हम खुशी-खुशी आगे आएंगी। यह धर्म की बात नहीं है, यह मानव कल्याण की बात है। कोई धर्म मनुष्यों को बांटने की इजाजत नहीं देता।”

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

साईका की सहेली मुस्कान भी इस पाक काम से खुश हैं। इस नेक काम में उसके परिवार वालों की भी रजामंदी है। मुस्कान कहती हैं, “काम कोई बड़ा या छोटा नहीं होता, हिंदू-मुस्लिम सबको ऐसे पाक काम करना चाहिए।” ये दोनों सहेलियां हर सोमवार को व्रत भी कर रही हैं। वे कहती हैं कि कुछ लोग अपने फायदे के लिए धर्म के नाम पर लोगों को आपस में बांट रहे हैं। किसी भी धर्म में मानव कल्याण की ही बात है।

TOPPOPULARRECENT