Tuesday , September 19 2017
Home / test / साइरस मिस्त्री टाटा समूह पर अपना कब्जा करना चाहते थे- टाटा संस

साइरस मिस्त्री टाटा समूह पर अपना कब्जा करना चाहते थे- टाटा संस

मुंबई। टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने आज एक नया पत्र लिखकर साइरस मिस्‍त्री पर काफी गंभीर आरोप लगाये हैं। रतन टाटा की इस चिट्ठी से उनके और साइरस मिस्‍त्री के बीच छिड़ी जंग बढ़ती ही जा रही है।

टाटा संस ने गुरुवार को नौ पेज की चिट्ठी लिखकर सायरस मिस्त्री को हटाने के कदम को सही साबित किया है। टाटा संस ने चिट्ठी में कहा कि मिस्त्री ने विश्वास तोडा, टाटा समूह की मुख्य संचालन कंपनियों पर नियंत्रण की मंशा थी, दूसरे प्रतिनिधियों को अलग किया।

चिट्ठी में कहा गया कि मिस्त्री ने हमारा भरोसा तोड़ा। वे टाटा ग्रुप की मेन ऑपरेटिंग कंपनियों से दूसरे रिप्रेजेंटेटिव्स को बाहर कर खुद का कंट्रोल चाहते थे। मिस्त्री की स्ट्रैट्जी ये थी कि वे टाटा बोर्ड में अकेले ही टाटा के रिप्रेजेंटेटिव रहें। उनका यह प्लान सोचा-समझा था और इस पर वे चार साल से काम कर रहे थे। चिट्ठी लिखने से पूर्व सुबह ही टाटा समूह ने अपनी कंपनियों से साइरस मिस्त्री को हटाने की कवायद शुरू कर दी।

TOPPOPULARRECENT