Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / सानिया ने अमेरिकी ओपन खिताब तेलंगाना और मुल्क को किया वक़्फ

सानिया ने अमेरिकी ओपन खिताब तेलंगाना और मुल्क को किया वक़्फ

हिंदुस्तान की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने अमेरिकी ओपन के अपने खिताब को मुल्क और नए रियासत तेलंगाना को वक़्फ किया है, जहां का उन्हें ब्रांड एम्बेस्डर नाए जाने पर सियासी मुतनाज़ा हो गया था।

हिंदुस्तान की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने अमेरिकी ओपन के अपने खिताब को मुल्क और नए रियासत तेलंगाना को वक़्फ किया है, जहां का उन्हें ब्रांड एम्बेस्डर नाए जाने पर सियासी मुतनाज़ा हो गया था।

सानिया ने जुमे के रोज़ ब्राजील के ब्रूनो सोरेस के साथ मिलकर अमेरिकी ओपन का मिक्स डबल खिताब जीता। सानिया ने फाइनल में करीबी मुकाबले में जीत दर्ज करने के बाद न्यूयॉर्क से पीटीआई से कहा, मैं काफी खुश हूं, ब्रूनो के साथ जीत दर्ज करना शानदार रहा। पहली बार हम साथ खेल रहे थे, ये दो हफ्ते शानदार रहे। यह जीत मैं हिंदुस्तान में सभी को वक़्फ करती हूं, अपने मुल्क को और रियासत तेलंगाना को और तेलंगाना के सभी लोगों को।

उन्होंने कहा, मैं काफी खुश हूं। यह खाब पूरा होने की तरह है। उम्मीद करती हूं कि कई और खिताब जीतूंगी। सानिया ने अपना तीसरा ग्रैंडस्लैम खिताब उस वाकिया के लगभग एक महीने बाद जीता है, जब बीजेपी के एक लीडर ने पाकिस्तान के क्रिकेटर शोएब मलिक के साथ उनके निकाह के सबब उन्हें पाकिस्तान की ‘बहू’ करार दिया था। तेलंगाना हुकूमत की तरफ से सानिया को राज्य का ब्रांड एम्बेसडर बनाए जाने के बाद बीजेपी लीडर ने यह रद्दे अमल ज़ाहिर किया था

यह पूछने पर कि क्या यह विवाद अमेरिकी ओपन के दौरान उनके दिमाग में था, तो सानिया ने कहा कि वह आगे बढ़ने में यकीन करती हूं और कोर्ट पर उतरने के बाद सिर्फ अपने खेल पर ध्यान देती हैं। ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाली पहली हिंदुस्तानी खातून और लिएंडर पेस और महेश भूपति के बाद तीसरी हिंदुस्तानी खिलाड़ी सानिया ने कहा, मुझे नहीं लगता कि हमें मनफी चीजों पर ध्यान देना चाहिए।

सानिया और ब्रूनो मैच टाईब्रेक में 9-4 की बढ़त के साथ चीज की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने कई गलतियां कीं, जिससे एबिगेल स्पीयर्स और सेंटियागो गोंजालेज ने 9-9 से बराबरी हासिल कर ली। भारत और ब्राजील की टाप सीड जोड़ी ने हालांकि हिम्मत और हौसला बरकरार रखते हुए जीत दर्ज की।

सानिया ने इस शानदार लम्हे को याद करते हुए कहा, एक वक्त हम सभी काफी डर गए थे, लेकिन हमने सिर्फ पाजिटिव सोचने की कोशिश की और वह किया तो हम कर सकते थे। इस हालात से निकलने में एक-दूसरे की मदद की और जीतने में कामयाब रहे।

TOPPOPULARRECENT