Tuesday , October 24 2017
Home / Khaas Khabar / साबिक डीएसपी के घर रची गई थी पटना ब्लास्ट की साजिश?

साबिक डीएसपी के घर रची गई थी पटना ब्लास्ट की साजिश?

पिछले महीने पटना के गांधी मैदान में बीजेपी की हुंकार रैली के दौरान हुए सीरियल ब्लास्ट मामले में सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। ब्लास्ट की जांच कर रही एनआईए के ज़राये के मुताबिक, दहशतगर्द तहसीन और हैदर ने एक रिटायर्ड डीएसपी के घर पर जाकर

पिछले महीने पटना के गांधी मैदान में बीजेपी की हुंकार रैली के दौरान हुए सीरियल ब्लास्ट मामले में सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। ब्लास्ट की जांच कर रही एनआईए के ज़राये के मुताबिक, दहशतगर्द तहसीन और हैदर ने एक रिटायर्ड डीएसपी के घर पर जाकर उनसे मुलाकात की थी और यहीं पर धमाके की साजिश रची गई थी। इस सिलसिले में एनआईए डीएसपी से पूछताछ कर सकती है।

ज़राये के मुताबिक, इंडियन मुजाहिदीन के मुश्तबा दहशतगर्द इम्तियाज से पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। इम्तियाज ने बताया है कि ज़्यादा मिक्दार में बम बनाने की तैयारी थी। तहसीन और हैदर ने 257 बम बनाए थे। इसके लिए हैदर की माशूका रकम का इंतेजाम करती थी।

पटना में बीजेपी की हुंकार रैली में सीरियल ब्लास्ट के सिलसिले में दहशतगर्दों के एक पुलिस आफीसर से राबिता की बहस उठी थी। ज़राये के मुताबिक, यह पुलिस आफीसर बिहार में तैनात था, लेकिन इसका एक घर झारखंड में भी है। तहसीन और हैदर धमाकों के बाद से फरार हैं और एनआईए उनकी तलाश कर रही है। अगर इस रिटायर्ड डीएसपी से पूछताछ होती है तो कुछ नए खुलासे हो सकते हैं।

माना जा रहा है कि इससे पहले एनआईए उस तक पहुंच पाती, तहसीन पटना धमाकों की साजिश को अंजाम तक पहुंचाने में कामयाब हो गया। मोनू ने ही अपने 5 साथियों के साथ मिलकर साजिश रची और इस धमाके को अंजाम दिया। मिली इत्तेला के मुताबिक धमाके की साजिश रांची में रची गई। मोनू उर्फ तहसीन बिहार के दरभंगा का रहने वाला है।

पटना ब्लास्ट की जांच कर रही एजेंसियों के मुताबिक , मोनू उर्फ तहसीन इस ब्लास्ट का मास्टरमाइंड है। मोनू इंडियन मुजाहिदीन का दहशतगर्द है और यासीन भटकल का करीबी रह चुका है। इंडियन मुजाहिदीन के चीफ यासीन की गिरफ्तारी के बाद से ही मोनू उर्फ तहसीन एनआईए के निशाने पर था।

TOPPOPULARRECENT