Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / सिद्दिपेट को अनक़रीब ज़िले का दर्जा, साफ़ पीने के पानी की सरबराही

सिद्दिपेट को अनक़रीब ज़िले का दर्जा, साफ़ पीने के पानी की सरबराही

सिद्दिपेट चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने अनक़रीब मुस्तक़र सिद्दिपेट को ज़िले का दर्जा देने, रेलवे लाईन से मरबूत करने, किसानों को ज़राअत के लिए आबपाशी की सहूलयात से मालामाल करने का एलान किया।

सिद्दिपेट चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने अनक़रीब मुस्तक़र सिद्दिपेट को ज़िले का दर्जा देने, रेलवे लाईन से मरबूत करने, किसानों को ज़राअत के लिए आबपाशी की सहूलयात से मालामाल करने का एलान किया।

उन्होंने तेलंगाना एन जी औज़ भवन की गोल्डन जुबली का इफ़्तेताह करते हुए एन जी औज़ भवन की मज़ीद नई इमारत की तामीर के लिए अपने फ़ंड से 50 लाख की मंज़ूरी का एलान किया। इस तरह वुकला के लिए ऐडवोकेट कॉलोनी के नाम से नई कॉलोनी की तामीर और कांफ्रेंस हाल की इमारत का तीक़न दिया।

क़ब्लअज़ीं चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ ने मुस्तक़र सिद्दिपेट के अहाता फिल्टर बैड में हलक़ा असेंबली सिद्दिपेट के तरक़्क़ीयाती कामों के जायज़ा मीटिंग को मुख़ातिब करते हुए महिकमा इंजीनीयरिंग के ओहदेदारों पर ज़ोर दिया कि वो तेलंगाना के 10 अज़ला की अवाम के घर घर पीने के लिए फिल्टर पानी की फ़राहमी के लिए सिद्दिपेट के फिल्टर ग्रिड के तर्ज़ पर सारी रियासत में फिल्टर ग्रिड तामीर करते हुए घर घर साफ़-ओ-शफ़्फ़ाफ़ पानी की सरबराही के इक़दामात करें।

उन्होंने कहा कि रियासती हुकूमत का अव्वलीन मक़सद हैके वो रियासत के हर घर की अवाम को साफ़ और शफ़्फ़ाफ़ पानी की सरबराही को यक़ीनी बनाए तब ही सुनहरे तेलंगाना की तामीर को तक़वियत हासिल होगी।

के चन्द्रशेखर राव‌ ने कहा कि अलाहिदा रियासत तेलंगाना काफ़ी जद्द-ओ-जहद के बाद हासिल हुई है और उस की तामीर-ए-नौ के लिए महिकमा इंजीनीयरिंग के ओहदेदारों की दिलचस्पी-ओ-जुस्तजू की सख़्त ज़रूरत है।

उन्होंने कहा कि हुकूमत उन को तमाम तर सहूलयात बहम पहुंचाएगी फंड्स की कोई कमी नहीं है। वाज़िह रहे के 1999 और 2000 में 60 करोड़ की लागत से शहर सिद्दिपेट को लिवेर् मानीर डैम (करीमनगर) से 60 किलोमीटर के फ़ासिले पर पाइपलाइन के ज़रीये सिद्दिपेट को फिल्टर ग्रिड की तामीर को अमल में लाते हुए टाउन के बिशमोल 180 मवाज़आत के अवाम को फिल्टर वाटर की सरबराही को यक़ीनी बनाया गया था।

उस वक़्त सिद्दिपेट में पीने के पानी की क़िल्लत से अवाम मुश्किलात से दो-चार होरहे हैं। उन्होंने महिकमा आबरसानी को हिदायत दी कि वो अपने अपने अज़ला-ओ-हलक़ाजात के अवाम को इसी तर्ज़ पर आबी सरबराही को यक़ीनी बनाईं। चीफ़ मिनिस्टर ने बताया कि मेड मानीर डैम की तामीर के ज़रीये ज़िला के तमाम हलक़ाजात को आबी सरबराही यक़ीनी बनाने के लिए श्रीसेलम प्रोजेक्ट के ज़रीये ज़िला महबूबनगर, नलगेंडा और रंगारेड्डी के अवाम को आबी सरबराही फ़राहम की जाये।

TOPPOPULARRECENT