Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / सियाचिन पर जनरल कियानी के बयान का ख़ैर मक़दम

सियाचिन पर जनरल कियानी के बयान का ख़ैर मक़दम

हिंदूस्तान ने पाकिस्तानी फ़ौजी सरबराह जनरल अशफ़ाक़ परवेज़ कियानी की जानिब से सियाचिन मसला को हल करने और वहां अफ़्वाज में तख़फ़ीफ़ से मुताल्लिक़ बयान का ख़ैर मक़दम किया है और कहा कि वहां अफ़्वाज की तैनाती पर जो रक़म ख़र्च की जात

हिंदूस्तान ने पाकिस्तानी फ़ौजी सरबराह जनरल अशफ़ाक़ परवेज़ कियानी की जानिब से सियाचिन मसला को हल करने और वहां अफ़्वाज में तख़फ़ीफ़ से मुताल्लिक़ बयान का ख़ैर मक़दम किया है और कहा कि वहां अफ़्वाज की तैनाती पर जो रक़म ख़र्च की जाती है उसे दोनों मुल्कों में तरक़्क़ी पर ख़र्च किया जा सकता है ।

मिनिस्टर आफ़ एस्टेट दिफ़ा मिस्टर एम एम पल्लम राजू ने अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि उन्हें ख़ुशी है कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भी सियाचीन ग्लेशियर पर अफ़्वाज की बरक़रारी में होने वाले मआशी मसाइल और चैलेंज को समझने लगा है । ये वाज़ेह करते हुए कि सियाचीन पहाड़ियों पर अफ़्वाज की तैनाती से मईशत मुतास्सिर हुई है उन्हों ने कहा कि दोनों मुल्कों की अपनी अपनी तशवीश है ।

उन्हों ने कहा कि पाकिस्तान को अपनी तशवीश है और हिंदूस्तान अपनी तशवीश रखता है इस से दोनों मुल्कों की मईशत मुतास्सिर हुई है । ये रक़म दोनों ही मुल्कों में तरक्कियाती उमूर पर ख़र्च की जा सकती है । दिल्ली में भी सरकारी ज़राए ने जनरल कियानी के रिमार्कस को मुसबत तबदीली क़रार दिया है और कहा कि इन रिमार्कस की इस लिए भी अहमियत है कि ये ख़ुद फ़ौजी सरबराह ने किए हैं।

इस तरह उन्हों ने ये इशारा दिया है कि फ़ौज भी दोनों मुल्कों के माबेन मसाइल को हल करने के हक़ में है । इन रिमार्कस को मुसबत तबदीली क़रार दिया जा सकता है और उन को अमली शक्ल देने के लिए इक़दामात किए जाने चाहिऐं। जनरल कियानी ने कल शेमाली पाकिस्तान में सकारडू के मुक़ाम का दौरा करते हुए सियाचीन मसला को हल करने की ज़रूरत पर ज़ोर दियाथा ।

TOPPOPULARRECENT