Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / सियासत आर्ट गैलरी की पेशकश इस्लामी ख़त्ताती की नुमाइश का आज इफ़्तेताह

सियासत आर्ट गैलरी की पेशकश इस्लामी ख़त्ताती की नुमाइश का आज इफ़्तेताह

सियासत आर्ट गैलरी की तरफ से सालार जंग म्यूज़ीयम के इश्तिराक-ओ-तआवुन से इस्लामी ख़त्ताती की नुमाइश का अज़ीम उल-शान पैमाने पर एहतेमाम किया जा रहा है।

सियासत आर्ट गैलरी की तरफ से सालार जंग म्यूज़ीयम के इश्तिराक-ओ-तआवुन से इस्लामी ख़त्ताती की नुमाइश का अज़ीम उल-शान पैमाने पर एहतेमाम किया जा रहा है।

इस इस्लामी ख़त्ताती नुमाइश का कौंसिल जनरल इरान आक़ाई हुस्न नूरयान हफ़्ता 17 अगसट को शाम 5.30 बजे शाम सालार जंग म्यूज़ीयम की दूसरी मंज़िल ( वेस्टर्न बलॉक ) में इफ़्तेताह अंजाम देंगे।

हैदराबाद शहर से ताल्लुक़ रखने वाले पाँच शौहरत याफ़ता ख़त्तात के असर अंगेज़ और सह्र अंगेज़ फ़न पारों को नुमाइश के लिए पेश किया जा रहा है।

रोज़नामा सियासत ने बेशुमार समाजी तहज़ीबी तालीमी ख़ैराती सेहत और मुख़्तलिफ़ सरगर्मियों को फ़रोग़ देने के साथ साथ अब समाजी भाई की सरगर्मियों के हिस्से के तौर पर फ़न ख़त्ताती को ख़त्म होने से बचाने का बेड़ा उठाया है।

इस सिलसिले में इस नुमाइश का एहतेमाम किया जा रहा है। इस से पहले भी इसी तरह की नुमाइश का दिल्ली में एहतेमाम किया गया था।

पिछ्ले तीन बरसों के अर्सा में इस्लामी ख़त्ताती के तक़रीबान् दो हज़ार फ़न पारों का एक बड़ा ज़ख़ीरा जमा होगया है और इन में से बहतरीन नमूने हैदराबाद में पहली मर्तबा नुमाइश के लिए पेश किए जा रहे हैं।

इन फ़न पारों का मुशाहिदा रुहानी तस्कीन का भी बाइस होसकता है। ये नुमाइश अवाम के लिए इतवार 18 अगसट से 01 सितंबर 2013 तक जारी रहेगी। सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे के दरमियान अवाम इस का मुशाहिदा करसकते हैं।

TOPPOPULARRECENT