Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / सियासत में शाय रिपोर्ट का असर मस्जिद उम्र सात गुमबद फिर आबाद

सियासत में शाय रिपोर्ट का असर मस्जिद उम्र सात गुमबद फिर आबाद

हैदराबाद । 19 । नवंबर : ( सियासत न्यूज़ ) : मसाजिद को वही लोग आबाद करते हैं जो आख़िरत पे यक़ीन रखते हैं । 400 साला क़दीम मस्जिद उम्र , गुलशन इक़बाल कॉलोनी , सात गुमबद आज बाद नमाज़ जुमा मुक़ामी नौजवानों की मदद से आबाद करदी गई । तक़रीबन 250 नौजवानों

हैदराबाद । 19 । नवंबर : ( सियासत न्यूज़ ) : मसाजिद को वही लोग आबाद करते हैं जो आख़िरत पे यक़ीन रखते हैं । 400 साला क़दीम मस्जिद उम्र , गुलशन इक़बाल कॉलोनी , सात गुमबद आज बाद नमाज़ जुमा मुक़ामी नौजवानों की मदद से आबाद करदी गई । तक़रीबन 250 नौजवानों ने इस कार-ए-ख़ैर में हिस्सा लिया । सियासत की रिपोर्ट का असर है कि इस ग़ैर आबाद मस्जिद को आबाद किया गया ।

सियासत ने 15 सितंबर 2011 से ग़ैर आबाद मसाजिद की तसावीर की इशाअत का सिलसिला शुरू किया है जिस की वजह से माशा अल्लाह मुतअद्दिद मसाजिद आबाद भी होगई हैं । सियासत के इस सिलसिले के तहत 65 मसाजिद जो ग़ैर आबाद हैं । उन्हें मंज़रे आम पर लाया गया है । मुक़ामी लोगों ने बताया कि सियासत में जो ग़ैर आबाद मसाजिद की तसावीर शाय होरही हैं उसी का असर है कि इस मस्जिद को भी यहां के हौसलामंद और दीनदार नौजवानों ने आबाद किया है ।

इस सिलसिले के लिए अहलयान गुलशन इक़बाल कॉलोनी सात गुमबद ने जनाब ज़ाहिद अली ख़ां का शुक्रिया अदा किया है और उन लोगों का कहना है कि ज़ाहिद अली ख़ां ने मिल्लत को जोड़ने का जो सिलसिला शुरू किया है वो लायक़ सताइश है । मस्जिद उम्र जो आज आबाद की गई ये मस्जिद मुकम्मल तौर पर झाड़ीयों में छपी हुई थी ।

लेकिन इस की साफ़ सफ़ाई मुक़ामी नौजवानों ने की और इस मस्जिद में आज जुमा की नमाज़ के साथ साथ अस्र और मग़रिब की नमाज़ भी अदा की गई । इदारा सियासत का मक़सद किसी तंज़ीम , फ़र्द या किसी जमात के लिए काम करना नहीं है बल्कि मिल्लत-ए-इस्लामीया को दिनी हमीयत के लिए बेदार करना है ।।

TOPPOPULARRECENT