Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / सीमांध्र में तेलुगु देशम को इक़तिदार

सीमांध्र में तेलुगु देशम को इक़तिदार

सीमांध्र में हुए चुनाव में तेलुगु देशम ने शानदार मुज़ाहरा किया है और इस ने बी जे पी के साथ 103 असेंबली नशिस्तों पर कामयाबी हासिल करली है और यहां उसे इक़तिदार हासिल होरहा है।

सीमांध्र में हुए चुनाव में तेलुगु देशम ने शानदार मुज़ाहरा किया है और इस ने बी जे पी के साथ 103 असेंबली नशिस्तों पर कामयाबी हासिल करली है और यहां उसे इक़तिदार हासिल होरहा है।

पार्टी को तीन नशिस्तों पर सबक़त हासिल होने की इत्तिला भी है। सीमांध्र में इक़तिदार की दावेदार समझी जाने वाली वाई एस आर कांग्रेस ने 66 असेंबली हलक़ों से कामयाबी हासिल की है और मज़ीद एक पर उसे सबक़त हासिल है।

इस के अलावा तेलुगु देशम ने सीमांध्र में लोक सभा की 16 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल करली है। एक नशिस्त पर सबक़त की इत्तिला भी है। वाई एस आर कांग्रेस ने लोक सभा की 8 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल की है।

सीमांध्र में कांग्रेस का मुज़ाहरा इंतिहाई नाक़िस रहा है और उसे लोक सभा और असेंबली की एक भी नशिस्त पर कामयाबी नहीं मिल सकी है। यहां इस के तमाम उम्मीदवारों को शिकस्त होगई है जिन में कई अहम क़ाइदीन मर्कज़ी और रियासती वुज़रा भी शामिल हैं।

चुनाव मुहिम के दौरान भी कांग्रेस को अवाम की ब्रहमी और नाराज़गी का सामना करना पड़ा था। सीमांध्र के अवाम आंध्र प्रदेश की तक़सीम के ज़रीये तेलंगाना रियासत की तशकील के फ़ैसले के ख़िलाफ़ ब्रहम हैं।

हलक़ा लोक सभा विशाखापटनम से वाई एस आर कांग्रेस की एज़ाज़ी सदर और पार्टी सदर जगन मोहन रेड्डी की वालिदा विजय लक्ष्मी को शिकस्त का सामना करना पड़ा है।

उन्हें बी जे पी के रियासती सदर के हरी बाबू के ख़िलाफ़ 60,000 वोटों से शिकस्त होगई। इस के अलावा राजिमपेट हलक़ा में डी पूरंदेशोरी को शिकस्त का सामना करना पड़ा है। साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी की पार्टी जय समैक्या आंध्र भी अपने वजूद का एहसास दिलाने में नाकाम रही है और उसे एक भी नशिस्त पर कामयाबी नहीं मिल सकी है।

तेलुगु देशम की इस शानदार कामयाबी से वहां चंद्राबाबू नायडू की ज़ेरे क़ियादत हुकूमत तशकील दी जानी यक़ीनी होगई है। साबिक़ वज़ीर ए राम नारायण रेड्डी की आत्मा कौर असेंबली हलक़ा में ज़मानत ज़बत होगई जबकि तनाली में साबिक़ स्पीकर एन मनोहर को शिकस्त होगई।

साबिक़ वज़ीर बोत्सा सत्य नाराय‌ना को विजयानगरम में अपने हलक़ा असेंबली चीपूरोप्ले से और उनकी शरीक-ए-हयात को वजयानगरम लोक सभा हलक़ा से शिकस्त होगई।

TOPPOPULARRECENT