Tuesday , October 24 2017
Home / International / सीरियाई संघर्ष के समाधान के लिए “प्लान बी” का समय आ गया: सऊदी अरब

सीरियाई संघर्ष के समाधान के लिए “प्लान बी” का समय आ गया: सऊदी अरब

U.S. Secretary of State John Kerry (L) meets Saudi foreign minister Adel al-Jubeir in Jeddah, Saudi Arabia May 14, 2016. Saudi Press Agency/Handout via REUTERS ATTENTION EDITORS - THIS PICTURE WAS PROVIDED BY A THIRD PARTY. EDITORIAL USE ONLY. NO RESALES. NO ARCHIVE.

वियाना: सऊदी विदेश मंत्री आदिल अलजबीर ने कहा है कि अगर सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद देश में युद्ध करने के लिए प्रयासों का सम्मान नहीं करते तो हमें विवाद के समाधान के लिए बदलाव का जायजा लेना होगा। आदिल अलजबीर ने वियाना में सीरिया से संबंधित 20 देशों के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा, ” हमें बहुत समय पहले प्लान बी पर विचार कर लेना चाहिए था। ”

उन्होंने कहा कि एक वैकल्पिक योजना का उल्लेख करने और विपक्ष को सैन्य सहायता में वृद्धि विकल्प अब बशार रजीम के हाथ में है। अगर वह विश्व समुदाय के समझौतों पर प्रतिक्रिया नहीं करते तो हमें देखना होगा कि क्या किया जा सकता है। ”

आपको बतादें कि इससे पहले वैश्विक और क्षेत्रीय शक्तियों के विदेश मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों का वियाना में बैठक हुई है और इसमें सीरिया में जारी रक्तपात को समाप्त करने के लिए प्रयासों पर चर्चा की गई है।

बैठक के प्रतिभागियों ने सीरिया में एक व्यापक युद्ध करने के लिए प्रयासों से सहमती ज़ाहिर किया है. सीरिया में इस समय सशर्त संघर्ष विराम जारी है लेकिन इसके बावजूद हलब और दमिश्क के उपनगरीय इलाकों में लड़ाई हुई है और विद्रोहियों के ठिकानों पर सीरियाई सेना और सहयोगी रूस के लड़ाकू विमान बमबारी कर रहे हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने पत्रकारों को बताया कि बैठक के प्रतिभागियों ने सीरिया के बाहरी दुनिया से कट कर रह जाने वाले क्षेत्रों में एक जून तक मानवीय सहायता पहुंचाने की डेडलाईन निर्धारित की है।

उनका कहना था कि अगर जमीनी रास्ते बंद रहते हैं तो प्रभावित लोगों तक हवाइ से राहत पहुंचाई जाएगी और विमानों के माध्यम से भोजन के पैकेट और दूसरा सामान गिराया जाएगा। इसके अलावा इस सहायता को रोकने वाले तत्वों के खिलाफ वैश्विक दबाव बढ़ाया जाएगा।

इस अवसर पर रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लारोफ का कहना था कि उनके देश की ओर से सीरियाई सरकार का समर्थन बशारालासद की समर्थन की श्रेणी में नहीं आती. इसके बजाय रूस आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में समर्थन कर रहा है और हम इस युद्ध को सीरियाई सेना के सिवा किसी और को बेहतर विकल्प नहीं समझते हैं।

TOPPOPULARRECENT