Wednesday , October 18 2017
Home / Crime / सीरिया: जबला और तर्तोस में ISIS का धमाका, 100 से अधिक लोगों की मौत

सीरिया: जबला और तर्तोस में ISIS का धमाका, 100 से अधिक लोगों की मौत

जबला: सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद की सरकार के गढ़ माने जाने वाले दो शहरों में सिलसिलेवार विस्फोटों के कारण एक सौ से अधिक लोग मारे गए हैं। इन हमलों की जिम्मेदारी आईएस ने स्वीकार कर ली है।

सीरिया से आने वाली नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार मध्य पूर्व में सक्रिय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट या आईएस ने तटीय शहरों जबलह और तर्तूस में आज प्रतिदिन सोमवार को हुए कई हमलों की जिम्मेदारी स्वीकार कर ली है। इस संगठन के अनुसार हमले में बशर अल असद के समर्थकों को निशाना बनाया गया है।

समाचार एजेंसी रोइटरज़ की बेरूत से प्राप्त रिपोर्टों के अनुसार जबलह और तार्तोस समग्र पांच आत्मघाती हमले और दो कार बम विस्फोट किए गए। यह बात महत्वपूर्ण है कि ये दोनों शहर अब तक देश में जारी हिंसक कृत्यों से बचे हुए थे और 30 मई को होने वाले ये हमले वहाँ अपनी शैली के पहले हमले हैं। एक और महत्वपूर्ण बात यह भी है कि दोनों ही शहरों में रूसी सैन्य प्रतिष्ठानें मौजूद हैं।

सीरियन ओब्ज्र्वेट्री फॉर ह्यूमन राइट्स ने इन हमलों में मरने वालों की संख्या 100 के लगभग बताई है। सीरियाई संघर्ष पर नजर रखने वाली इस गैर सरकारी संगठन के अनुसार जबलह में 53 जबकि तार्तोस में अड़तालीस लोग मारे गए और दोनों शहरों में हुए कई हमलों में घायलों की संख्या भी दर्जनों में है।

इसके विपरीत सीरिया के सरकारी मीडिया ने अब तक मृतकों की कुल संख्या 45 बताई है। सरकारी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार तार्तोस में एक पेट्रोल स्टेशन को एक कार बम विस्फोट और दो आत्मघाती धमाकों से निशाना बनाया गया। जबलह में कुल चार विस्फोट हुए, जिनमें से एक, एक स्थानीय अस्पताल के पास हुआ। गृह मंत्रालय ने मृतकों की संख्या पहले 20 और फिर वृद्धि के साथ 45 बताई है।

विश्व शक्तियों विशेषकर अमेरिका और रूस के प्रयासों के परिणामस्वरूप पश्चिमी सीरिया में संघर्ष विराम लागू है हालांकि इन ताकतों को इस संघर्ष विराम लागू जारी रखवाने के संबंध में काफी मुश्किलें पेश आ रही हैं। इसके अलावा इस साल जिनेवा में सीरियाई शांति प्रक्रिया में गतिरोध के कारण हाल के कुछ दिनों में शाम के अन्य हिस्सों में हिंसक गतिविधियों में स्पष्ट वृद्धि का उल्लेख किया गया है। पिछले सप्ताह राजधानी दमिश्क और कुछ समय पहले हमास में हुए बम धमाकों की जिम्मेदारी भी आईएस स्वीकार कर चुकी है। यह संगठन कुछ क्षेत्रों में सीरियाई सरकार के बलों के खिलाफ जूझ रही है जबकि कुछ क्षेत्रों में यह अलकायदा, जैसे विरोधी जेहादी समूहों का सामना है.

रूस सीरियाई संघर्ष में राष्ट्रपति बशर अल असद का समर्थन कर रहा है। लाज़किया शहर जबलह से उत्तर की ओर स्थित है और रूस का वहां एक एयरबेस मौजूद है। तार्तोस में भी रूसी नौसेना का एक अड्डा स्थापित है।

TOPPOPULARRECENT