Tuesday , October 24 2017
Home / Khaas Khabar / सुहराब उद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी एनकाउंटर मुक़द्दमा ,हुकूमत गुजरात की दरख़ास्त मुस्तर्द

सुहराब उद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी एनकाउंटर मुक़द्दमा ,हुकूमत गुजरात की दरख़ास्त मुस्तर्द

सुप्रीम कोर्ट ने आज तुलसी राम प्रजापति की मावराए अदालत ( न्यायालय से हटकर) हलाकत की सी बी आई तहक़ीक़ात के हुक्म पर नज़रेसानी ( पुन: विचार) के लिए पेश कर्दा दरख़ास्त मुस्तर्द ( रद्द) कर दी ।

सुप्रीम कोर्ट ने आज तुलसी राम प्रजापति की मावराए अदालत ( न्यायालय से हटकर) हलाकत की सी बी आई तहक़ीक़ात के हुक्म पर नज़रेसानी ( पुन: विचार) के लिए पेश कर्दा दरख़ास्त मुस्तर्द ( रद्द) कर दी ।

प्रजापति सुहराब उद्दीन शेख़ के फ़र्ज़ी एनकाउंटर मुक़द्दमा का आईनी ( चश्मदीद) गवाह था । मुबय्यना ( कथित) तौर पर गुजरात के साबिक़ वज़ीर-ए-दाख़िला ( पूर्व गृह मंत्री गुजरात) अमीत शाह इस एनकाउंटर में मुलव्वस थे ।

जस्टिस पी सताशीवम और जस्टिस वी एस चौहान ने कहा कि रियास्ती हुकूमत (राज्य सरकार) की दरख़ास्त की कोई ठोस बुनियाद नहीं है । रियास्ती पुलिस ने इस मुक़द्दमा में फ़र्द-ए-जुर्म (charge sheet/ अपराध सूची) पहले ही पेश कर दिया है । इस लिए दरख़ास्त मुस्तर्द ( रद्द) की जाती है ।

दरीं असना गुजरात हाइकोर्ट ने तहक़ीर ( अपमान) अदालत की दरख़ास्त पर रियास्ती पुलिस सरबराह को नोटिस जारी करदी । डी जी पी चितरंजन सिंह के ख़िलाफ़ एक हेड कांस्टेबल ने तहक़ीर अदालत की शिकायत पर मबनी दरख़ास्त ( निर्धारित आवेदन) पेश की थी ।

हेड कांस्टेबल हारून यूसुफ़ भाई कड़ी वाला ने ए डी जी पी सिंह के हुक्म को दरख़ास्त में चैलेंज किया था ।

TOPPOPULARRECENT