Thursday , August 17 2017
Home / India / सूडान में फंसे 500 भारतीयों को ‘एयरलिफ्ट’ करने ‘ग्राउंड जीरो’ पहुंचे मंत्री

सूडान में फंसे 500 भारतीयों को ‘एयरलिफ्ट’ करने ‘ग्राउंड जीरो’ पहुंचे मंत्री

दक्षिणी सूडान : दक्षिणी सूडान में फंसे करीब 500 भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए भारत सरकार का ‘ऑपरेशन संकटमोचन’ शुरू हो गया है. इस अभियान का नेतृत्व करने के लिए खुद विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह सूडान के लिए रवाना हो गए हैं. इस मुद्दे को लेकर हुई उच्चस्तरीय बैठक के बाद ऑपरेशन शुरू हो गया है.
गौरतलब है कि दक्षिण सूडान के कई हिस्सों में विद्रोही और सैनिकों के बीच हिंसक संघर्ष हो रहा है. इस संघर्ष में भारतीय भी फंसे हुए हैं. विदेश मंत्री के ट्वीटर हैंडल पर लगातार फंसे लोगों के रिश्तेदारों की ओर से गुहार लगाई जा रही थी. इसके साथ ही वहां की दूतावास के पास भी ऐसे लोगों की सूचना आ रही थी. बताया जा रहा है कि जिन लोगों के पास वैध भारतीय दस्तावेज होंगे सिर्फ उन्हीं भारतीय नागरिकों को लाने की अनुमति है. इसके साथ ही वे यात्री अपने साथ पांच किलोग्राम तक का लगेज ‘केबिन’ में लेकर आ सकते हैं. इसके साथ ही कहा गया है कि महिलाओं और बच्चों के प्राथमिकता दी जाएगी.
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारतीयों को निकालने के संबंध में ट्वीट किया, ‘हम दक्षिण सूडान से भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन ‘संकटमोचन’ शुरू कर रहे हैं. मेरे सहयोगी जनरल वीके सिंह इस अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं. उनके साथ सचिव अमर सिन्हा, संयुक्त सचिव सतबीर सिंह और निदेशक अंजनि कुमार होंगे. दक्षिण सूडान में हमारे राजदूत श्रीकुमार मेनन और उनकी टीम जमीन पर इस अभियान का आयोजन कर रही है.’

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, ‘जनरल ने एक बार फिर जिम्मेदारी ली है. दो सी.17 विमान जूबा जा रहे हैं. जनरल वीके सिंह दक्षिण सूडान से लोगों को निकालने के अभियान का नेतृत्व करेंगे.’ इस मुद्दे को लेकर हुई उच्चस्तरीय बैठक के बाद ऑपरेशन शुरू हो गया है.
VK Singh दरअसल वीके सिंह ने ही हिंसा प्रभावित यमन से पिछले साल करीब 4000 भारतीयों को निकालने के अभियान की मौके पर जाकर निगरानी की थी.

TOPPOPULARRECENT