Monday , October 23 2017
Home / India / सूरत-ए-हाल का शख़्सी जायज़ा लेने वज़ीर-ए-आज़म का दौरा-ए-विशाखापटनम

सूरत-ए-हाल का शख़्सी जायज़ा लेने वज़ीर-ए-आज़म का दौरा-ए-विशाखापटनम

वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी आज‌ विशाखापटनम का दौरा करेंगे ताकि समुंद्री तूफ़ान हुद हुद‌ की साहिली आंध्र से टकराने के बाद इस इलाक़े में तबाही का शख़्सी तौर पर जायज़ा ले सकें। उन्होंने अपने टोइटर पर कहा कि चीफ़ मिनिस्टर आंध्र प्रदेश चंद्र

वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी आज‌ विशाखापटनम का दौरा करेंगे ताकि समुंद्री तूफ़ान हुद हुद‌ की साहिली आंध्र से टकराने के बाद इस इलाक़े में तबाही का शख़्सी तौर पर जायज़ा ले सकें। उन्होंने अपने टोइटर पर कहा कि चीफ़ मिनिस्टर आंध्र प्रदेश चंद्र बाबू नायडू से उन का मुसलसल रब्त क़ायम है और वो ताज़ा तरीन सूरत-ए-हाल से वाक़फ़ीयत हासिल कररहे हैं।

नायडू की काबीना तवक़्क़ो है कि विशाखापटनम में आज से मौजूद होगी और हुकूमत की तवज्जे मामूलात-ए‍-ज़िन्दगी अज़ला विशाखापटनम, सुरेका कलिम और विजयानगरम में बहाल करने पर मर्कूज़ होगी। ताज़ा तरीन मौसमियात के ख़बर नामा के बमूजब तूफ़ान हुद हुद‌ जुनूबी छत्तीसगढ़ और मतसला जुनूब मग़रिबी ओडिसा के क़रीब है।

इस के शुमाल-शुमाल मग़रिब की सिम्त पेशरफ़्त करने और बतदरीज कमज़ोर पड़ जाने की तवक़्क़ो है। भूब्नेश्वर से मौसूला इत्तेला के बमूजब तूफ़ान हुदहुद आज कमज़ोर पड़ गया और गहरे कम दबाव‌ में तबदील होकर जुनूबी छत्तीसगढ़ और इस के पड़ोसी इलाक़ों पर मर्कूज़ है।

तूफ़ान हुदहुद पहले ही कमज़ोर होचुका था और शुमाल की सिम्त पेशरफ़त के बाद इस में मज़ीद कमज़ोरी पैदा होगई और वो गहरे कम दबा में तबदील होकर जुनूबी छत्तीसगढ़ और पड़ोसी इलाक़ों पर मर्कूज़ होगया। ये मज़ीद शुमाल-शुमाल मग़रिब की सिम्त पेशरफ़त करेगा और मज़ीद कमज़ोर होजाएगा।

इस के ज़ेर-ए-असर ओडिसा के कई मुक़ामात पर आइन्दा चौबीस घंटे में ज़बरदस्त बारिश, गरज चमक के साथ होसकती है और रियासत के दाख़िली इलाक़े में एक या दो मुक़ामात पर बारिश का अंदेशा है। मुक़ामी चौकसी का इशारा नंबर 3 रियासत की तमाम बंदरगाहों पर आवेज़ां कर दिया गया है।

गर्द आलूद हुआ 70 ता 90 कीलोमीटर की रफ़्तार से जुनूब मशरिक़ की सिम्त में पेशरफ़त कररही है और ओडिसा के साहिलों पर इस का ग़लबा रहेगा। समुंद्र में शदीद तमूज का ओडिसा के साहिल के क़रीब अंदेशा है। माही ग़ैरों को मश्वरा दिया गया है कि वो समुंद्र में ना जाएं। नई दिल्ली से मौसूला इत्तेला के बमूजब मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला राज नाथ सिंह ने आज बिहार, झारखंड, मग़रिबी बंगाल, यूपी, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के चीफ़ मिनिस्टर्स से टेलीफ़ोन पर बातचीत की और मर्कज़ की जानिब से समुंद्री तूफ़ान हुद हुद के ज़ेर-ए-असर ज़बरदस्त बारिश होने की सूरत में पैदा होने वाली सूरत-ए-हाल से निमटने के लिए हर मुम्किन मदद का तैक़ून‌ दिया।

राज नाथ सिंह ने विशाखापटनम के क़रीब तूफ़ान के टकरा जाने के बाद की सूरत-ए-हाल से चीफ़ मिनिस्टर्स से तफ़सीली वाक़फ़ीयत हासिल की। वो कल भी ओडिसा और आंध्र प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर्स से इस बारे में बातचीत करचुके थे।

TOPPOPULARRECENT