Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / सैंकड़ों तालाब और क़दीम नाले क़बज़ागीर अनासिर की वजह से तबाह

सैंकड़ों तालाब और क़दीम नाले क़बज़ागीर अनासिर की वजह से तबाह

नुमाइंदा ख़ुसूसी-शहर में सैंकड़ों तालाब और क़दीम नाले थे , अब ये सिर्फ़ तारीख के औराक़ में ही नज़र आते हैं । हर शख़्स जानता है कि इन तालाबों के साथ किया सुलूक हुआ और किस ने किया । बड़ी बड़ी कॉलोनियां , मुहल्ला जात और आबादियां इन ताला

नुमाइंदा ख़ुसूसी-शहर में सैंकड़ों तालाब और क़दीम नाले थे , अब ये सिर्फ़ तारीख के औराक़ में ही नज़र आते हैं । हर शख़्स जानता है कि इन तालाबों के साथ किया सुलूक हुआ और किस ने किया । बड़ी बड़ी कॉलोनियां , मुहल्ला जात और आबादियां इन तालाबों और नालों पर क़ायम होगईं । ज़मीन के नीचे जितनी गहराई तक पानी था । इस से ज़्यादा बुलंद-ओ-बाला इमारतें इस के ऊपर क़ायम होगईं जिस की वजह से शहर में पानी की क़िल्लत और हमा इक़साम की बीमारियां लोगों के लिए वबाल जान बनी हुई हैं और इस के ज़िम्मेदार वो लैंड गिराबरस हैं जिन्हों ने दुनियावी फ़वाइद हासिल करने के लिए उन की प्लाटिंग की हत्ता कि हमारे शहर के चंद लैंड गिराबरस वो हैं जिन्हों ने मौक़ूफ़ा जायदाद , क़ब्रिस्तान और मसाजिद की अराज़ी को भी नहीं बख्शा , शहर में तालाबों को तो अब सिर्फ उंगलियों पर ही गिना जा सकता है ।

क़ारेईन इस लंबी तमहीद के बाद असल मौज़ू की तरफ़ आप को लाते हैं कि एक बार फिर एक क़दीम नाला एक शख़्स की हिर्स-ओ-हवस का शिकार हो रहा है । बारकस के आगे एरा कुनटा के इलाक़े में मेन रोड पर एक क़दीम नाला है जिस का सर्वे नंबर 110 है इस से मुत्तसिल प्लाटिंग करके अब इस नाले के दायरा को तंग किया जा रहा है । लारियों के ज़रीया मलबा लाकर उस नाले के वजूद को मिटाने की कोशिश रात-ओ-दिन जा रही है । एरा कुनटा के बाशऊर अफ़राद ने नुमाइंदा सियासत , सी पी एम सिनयर लीडर एम श्री निवास के इलावा सर्वर नगर मंडल एम आर ओ को इस नाले के ख़तरे की तमाम तफ़सीलात से वाक़िफ़ करवाया जिस के बाद सर्वर नगर मंडल ऑफ़िस तहसीलदार ने फ़ौरी हरकत में आते हुए जनार्धन रेड्डी डिप्टी तहसीलदार , जनगया वी आर ओ और दीगर स्टाफ़ को आज नाले का मुआइना करने के लिए रवाना किया ।

जनार्धन रेड्डी ने मुआइना के बाद बताया कि ये बात बिलकुल वाज़ेह है कि क़दीम नाले को एक साज़िश के तहत मिट्टी डाल कर बंद किया जा रहा है । डिप्टी तहसीलदार ने बताया कि अगर ये नाला बंद होजाता है तो एरा कुनटा , शाहीन नगर और आस पास की आबादी में रहने वाले लोगों के लिए एक बड़ी मुसीबत खड़ी हो जाएगी क्यों कि ये पानी की निकासी का वाहिद रास्ता है जिस के बंद होजाने के बाद पानी घरों में दाख़िल हो जाएगा और जो हज़रात यहां प्लाट ख़रीद रहे हैं वो सब से ज़्यादा इस परेशानी के शिकार होंगे । शायद इसी ख़तरा को मुक़ामी अफ़राद ने महसूस किया तब ही वो हमारे और मीडिया के इलम में ये बात लाए । बारिश के अय्याम में अक्सर ये देखा जाता है घरों में पानी घुस कर तमाम सामान को बर्बाद कर देता है ।

शायद इस वजह से गर्मा का फ़ायदा उठाते हुए इन अय्याम में प्लाटिंग की जा रही है जो मौसम बरसात में मुम्किन ना थी । वाज़ेह रहे कि इस मौक़ा पर मुक़ामी लोगों की भारी तादाद जमा होगई और उन्हों ने हुक्काम के सामने अपने जज़बात और ब्रहमी का इज़हार करते हुए कहा कि प्लाटिंग करने वाले चंद रोज़ में माल बटोर के यहां से रफू चक्कर हो जाएंगे , लेकिन उन की हरकतों की बिना पर मुक़ामी लोग भारी मुसीबत में पड़ जाएंगे । सी पी एम सिनयर लीडर एम श्री निवास ने कहा कि जो लोग इस नाले को बंद करने की साज़िश रच रहे हैं । उन्हें हम किसी भी हाल में कामयाब होने नहीं देंगे । इस सिलसिला में हम कलक्टर रंगा रेड्डी से भी रुजू होंगे ।

नीज़ सी पी एम नाला बंद होने की वजह से परेशानियों से दो-चार होने वाले मुक़ामी अफ़राद को लेकर उन के ख़िलाफ़ एहतिजाज करेगी । मुक़ामी लोगों ने बताया कि जो इस नाले के वजूद को मिटाने की कोशिश कर रहा है वो शहर का मशहूर लैंड गराबर है । माज़ी में वो कई तालाबों पर प्लाटिंग कर चुका है । उसे इस हवाले से ख़ासा तजुर्बा है । ये मौसूफ़ पुराने शहर में शादी ख़ाना और पेट्रोल पंप का कारोबार करते हैं नीज़ ये वही है जिस ने दो साल क़ब्ल एक मस्जिद को शहीद करने की नापाक और नाकाम कोशिश की थी । उर्दू अख़बारात ने बरवक़्त उस मिली मसला को अवाम के सामने लाकर इस मस्जिद का तहफ़्फ़ुज़ किया था और एक सयासी जमात की पुश्तपनाही हासिल होने की वजह से ये मौसूफ़ ना तालाबों , क़ब्रिस्तानों की अरासी और ना ही अल्लाह के घरों की ज़मीनात को ख़ातिर में लाते हैं ये वक़फ़ा वक़फ़ा से इस तरह की ख़बरों में आते रहते हैं ।

मुक़ामी लोगों ने शिकायत की कि पहले ही ये नाला नाकाफ़ी था क्यों कि बारिश के दिनों में शाहीन नगर और एरा कुनटा पहाड़ी इलाक़ा होने की वजह से सारा पानी यहीं से जाता था । अगर यही बंद हो जाय तो बहुत बड़ी तबाही आसकती है । डिप्टी तहसीलदार जनार्धन रेड्डी ने बताया कि ये रिपोर्ट आज शाम तक आला ऑफीसरों को पहुंचा दी जाएगी और उन्हों ने इस नाले को दुबारा बहाल कराने का भरपूर तय्क्कुन दिलाया । नीज़ उन्हों ने कहा कि ख़ातियों के ख़िलाफ़ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जाएगी । क़ारईन आप ने बारहा अख़बारात में पढ़ा होगा कि जब कभी भी शहर में बारिश होती है तो घरों में पानी घुस कर किस तरह वबाल जान बन जाता है ।

पानी के रास्ते बंद कर के प्लाटिंग करने वाले लोगों की वजह से ही पूरे मुहल्ला वालों पर ये आफ़त आती है । लिहाज़ा ज़रूरत इस बात की है कि एसे मफ़ाद परस्त अनासिर के ख़िलाफ़ सब यक जुट हो कर खड़े होँ , जैसे एरा कुनटा के लोगों ने इस हवाले से बहतरीन मिसाल क़ायम की है । और फ़ोरन सरकारी ओहदेदारों , मीडिया और सी पी एम लीडर को इस से आगाह क्या इस तरह हर शहरी अपने आस पास के माहौल पर पूरी नज़र रखे और एसे लालची लोगों को उन के मक़सद में कामयाब ना होने दे ।।

TOPPOPULARRECENT