Friday , October 20 2017
Home / India / सोनिया और राहुल गांधी की कश्मीर के मुतास्सिरीन से मुलाक़ात

सोनिया और राहुल गांधी की कश्मीर के मुतास्सिरीन से मुलाक़ात

भरपूर ताईद का तैक़ून , एक मुतास्सिरा ख़ातून सोनिया के सामने ज़ार वक्तार रोपड़ें

भरपूर ताईद का तैक़ून , एक मुतास्सिरा ख़ातून सोनिया के सामने ज़ार वक्तार रोपड़ें

सदर कांग्रेस सोनिया गांधी और नायब सदर कांग्रेस राहुल गांधी ने तबाहकुन सेलाब के बाद पहली बार जम्मू-ओ-कश्मीर का दौरा किया और मुतास्सिरीन को तैक़ून दिया कि उनकी पार्टी रियासत के अवाम के साथ है और तैक़ून दिया कि उनके मसाइल दूर करने के लिए भरपूर मदद दी जाएगी।

दहरोना देहात में मुतास्सिरीन सेलाब के एक इजतिमा से ख़िताब करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि उनके मसाइल हुकूमत तक पहुंचाएंगे और उन्हें हर तरह से मदद देंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी अवाम के रंज-ओ-ग़म में बराबर की शरीक है और सेलाब ज़दा वादई कश्मीर की सेलाब के फ़ौरी बाद से मदद करती आरही है।

राहुल गांधी ने कहा कि हमारी तंज़ीम बिशमोल कांग्रेस पार्टी नौजवान और ख़वातीन की कांग्रेस, इन एसयू आई और आर जी एफ़ मुक़ामी क़ाइदीन के साथ तआवुन के ज़रिये सेलाब से मुतास्सिरीन की मदद के लिए मसरूफ़ हैं और उनके रंज-ओ-ग़म में बराबर की शरीक हैं। उन्होंने कहा कि वो दीगर मुक़ामात का भी दौरा करेंगी।

माँ और बेटा रियासत के दो रोज़ा दौरे पर हैं ,उन के हमराह पार्टी के सीनियर क़ाइदीन बिशमोल क़ाइद अपोज़ीशन राज्य सभा ग़ुलाम नबी आज़ाद एक बाज़ आबादकारी कैंम्प का दौरा करके राहत रसानी अशीया सरबराह करचुके हैं। 18 ख़ानदान जिन के मकान सेलाब में मुनहदिम होगए , कैंम्प में ख़ेमों के अंदर मुक़ीम हैं जो राजीव गांधी फ़ा की जानिब से फ़राहम किए गए हैं।

कांग्रेस क़ाइदीन ने हर खे़मे का दौरा किया और राहत रसानी अशीया जैसे राशन किट्स , मलबूसात , रिवायती कश्मीरी लिबास , फेरान मर्द-ओ-ख़वातीन को रोज़ाना इस्तेमाल के लिए सरबराह किए। सोनिया गांधी ने कहा कि वो कश्मीरी अवाम के मसाइल पर हुकूमत से बातचीत करेंगी और हर मुम्किन मदद सरबराह करने की कोशिश करेंगी।

रियाज़ अहमद मलिक जिन का मकान जारीया माह के अवाइल में सेलाब में बह चुका है , एक क़रीबी स्कूल में पनाह गज़ीन थे और अब कांग्रेस अरकाने असेम्बली ने उन्हें बाज़ आबादकारी कैंम्प मुंतक़िल कर दिया है।रियासती वज़ीर सयाहत , कांग्रेसी रुकन असेम्बली ग़ुलाम अहमद मीर ने उन्हें राहत रसानी अशीया फ़राहम की हैं। एक 35 साला ख़ातून शहना ज़ह जिन की तमाम मिल्कियत सेलाब की नज़र होचुकी है , सदर कांग्रेस सोनिया गांधी से मुलाक़ात के दौरान उन्हें अपनी बिप्ता सुनाते हुए ज़ार-ओ-क़तार रोने लगीं। सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने सीनियर कांग्रेस क़ाइदीन के साथ एक बाज़ आबादकारी मर्कज़ में उनसे मुलाक़ात की थीं।

TOPPOPULARRECENT