Friday , October 20 2017
Home / India / सोनिया ने सुषमा की तरफ बढ़ाया ‘दोस्ती’ का हाथ

सोनिया ने सुषमा की तरफ बढ़ाया ‘दोस्ती’ का हाथ

नई दिल्ली, 8 मई: पिछले कुछ दिनों से लोकसभा में अपोजिशन की लीडर सुषमा स्वराज के निशाने पर रहने वाली कांग्रेस सदर सोनिया मंगल के दिन को ‘गांधीगिरि’ करती नजर आईं।

नई दिल्ली, 8 मई: पिछले कुछ दिनों से लोकसभा में अपोजिशन की लीडर सुषमा स्वराज के निशाने पर रहने वाली कांग्रेस सदर सोनिया मंगल के दिन को ‘गांधीगिरि’ करती नजर आईं।

हमलों और नाराजगी को पीछे छोड़ कर वह आगे बढ़ीं और सुषमा स्वराज के कंधे पर नर्म मिज़ाज से हाथ रखा। उनका हाल जाना और गिले-शिकवे दूर करने की कोशिश की।

वैसे सियासत के माहिरीन के मुताबिक सोनिया की यह पहल उनकी इस फिक्र से पनपी है कि पार्लियामेंट के बजट सेशन का दूसरा मरहला खत्म होने में सिर्फ तीन दिन बचे है और उनका अहम फूसेक्युरिटी बिल अभी तक लटका हुआ है।

आवाम को फूड सेक्युरिटी की गारंटी अगले लोकसभा इंतेखाबात में कांग्रेस का एक अहम हथियार होगा। कांग्रेस 10 मई को खत्म हो रहे इसी सेशन में ज़मीन तहवील बिल (Land Acquisition Bill) भी पास कराना चाहती है। जो बीजेपी के तआउन / मदद के बगैर मुम्किन नहीं दिखता। दोनों लीडरों की मुलाकात दस मिनट तक चली।

दरअसल हुआ यूं कि हंगामे की वजह से लोकसभा के मुल्तवी के बाद सीनीयर लीडर लालकृष्ण आडवाणी के साथ सेंट्रल हॉल की ओर बढ़ रही सुषमा के ठीक पीछे सोनिया भी चल रही थीं। इसी दौरान सोनिया ने आगे बढ़ कर सुषमा के कंधे पर नर्म मिज़ाज से हाथ रखा।

सलाम दुआ के साथ दोनों लीडरों के बीच बातचीत शुरू हुई। बातचीत लंबी खिंचती देख दो मिनट बाद आडवाणी आगे बढ़ गए। तब सोनिया-सुषमा के बीच अकेले में बातचीत शुरू हुई।

दोनों लीडरों के बीच हुई बातचीत पर बीजेपी चुप्पी साधी हुई हैं, लेकिन ज़राए ने बताया कि मुलाकात में एक-दूसरे का हालचाल जानने के बाद पार्लियामेंट में जारी तातूल (रुकावट ) पर बातचीत शुरू हो गई। सोनिया ने बीजेपी की हुकूमत से नाराजगी का जिक्र करते हुए पूछा कि इस हालात में रूकावट कैसे दूर हो सकता है।

इस पर सुषमा ने कहा कि बीजेपी ने नशिस्त (कुर्सी) और पार्लीमानी उमोर (Parliamentary Affairs) की बैठकों के बाइकाट की बात कही है, वज़ीर ए आज़म या लीडर सदन की बैठकों का नहीं। उन्होंने इशारों में ही सोनिया को वज़ीर ए आज़म या ऐवान के लीडर वज़ीर ए दाखिला सुशील कुमार शिंदे केकुल जमाअती इजलास की सलाह दी।

बातचीत के दौरान सुषमा ने साफ कर दिया कि पार्टी पार्लीमानी उमोर के साथ लोकसभा के सदर की बुलाई बैठकों का बाइकाट जारी रखेगी। सुषमा ने इस मुलाकात की तसदीक करते हुए कुबूल किया कि बेहद अच्छे माहौल में मुज़ाकरात हुई।

TOPPOPULARRECENT