Monday , October 23 2017
Home / India / सोनीया का 7 साल में 49 बार फ़िज़ाईया के ज़रीया सफ़र

सोनीया का 7 साल में 49 बार फ़िज़ाईया के ज़रीया सफ़र

नई दिल्ली, 4 जनवरी : यू पी ए चैर परसन सोनीया गांधी ने पिछ्ले सात बरसों में हिंदूस्तानी फ़िज़ाईया के तय्यारा और हेलीकॉप्टरों में 49 मर्तबा सफ़र किया जिन में वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह के हमराह 23 इस्फ़ार शामिल हैं। कांग्रेस जनरल सैक्रेटरी राह

नई दिल्ली, 4 जनवरी : यू पी ए चैर परसन सोनीया गांधी ने पिछ्ले सात बरसों में हिंदूस्तानी फ़िज़ाईया के तय्यारा और हेलीकॉप्टरों में 49 मर्तबा सफ़र किया जिन में वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह के हमराह 23 इस्फ़ार शामिल हैं। कांग्रेस जनरल सैक्रेटरी राहुल गांधी ने भी पिछ्ले तीन साल में आई ए एफ़ तय्यारा और हेलीकॉप्टरों में आठ बार सफ़र किया, क़ानून हक़ मालूमात के तहत हासिल शूदा जवाब में ये बात मालूम हुई।

सोनीया गांधी और राहुल गांधी दोनों आई ए एफ़ तय्यारा के ज़रीये सफ़र के अहल नहीं हैं, लिहाज़ा उन्हें अहल अश्ख़ास जिन में वज़ीर-ए-आज़म, नायाब वज़ीर-ए-आज़म, वज़ीर-ए-दाख़िला और वज़ीर-ए-दिफ़ा शामिल हैं, उनकी रिफ़ाक़त में सरकारी मक़ासिद के लिए सफ़र करना पड़ा।

ग़ैरसरकारी मक़ासिद के लिए सिर्फ़ वज़ीर-ए-आज़म ही अहल होता है। दीगर काबीनी वुज़रा भी वज़ीर-ए-आज़म की इजाज़त लेने के बाद इस तय्यारा के ज़रीये सफ़र करसकते हैं। आई ए एफ़ क़वाइद के मुताबिक़ फ़िज़ाई सफ़र के लिए अहल अफ़राद मख़सूस मक़ासिद के लिए दीगर शरीक मुसाफ़िर को साथ ले सकते हैं।

सोनीया गांधी की तरफ‌ से आई ए एफ़ तय्यारा में किए गए 49 फ़िज़ाई इस्फ़ार के मिनजुमला 42 का कोई बिल नहीं बनाया गया क्योंकि ये इस्फ़ार अहल अफ़राद की रिफ़ाक़त में किए गए जबकि छः बिल बने और मुताल्लिक़ा मह्कमाजात की तरफ‌ से अदा करदिए गए।

1.17 करोड़ रुपय का एक बिल हनूज़ कर्नाटक हुकूमत के नाम पर पड़ा है क्योंकि ये सफ़र रियास्ती हुकूमत की तरफ़ से किया गया था। फ़्लाईट की तफ़सीलात से ज़ाहिर होता है कि सोनीया गांधी ने प्रणब मुकर्जी (तब के वज़ीर फ़ीनानस और उमूर ख़ारिजा) और वज़ीर-ए-दिफ़ा ए के अनटोनी के साथ भी फी कस छः मर्तबा सफ़र किया है।

हिसार के आर टी आई जहदकार रमेश वर्मा को वज़ारत-ए-दिफ़ा और आई ए एफ़ हेडक्वार्टर्स से हासिल शूदा जवाब बताता है कि हुकूमत आसाम राहुल गांधी के एक फ़िज़ाई सफ़र पर 8.26 लाख रुपय का बिल बाक़ी है।

TOPPOPULARRECENT