Wednesday , October 18 2017
Home / Crime / सौदेबाज़ी: एम एल एज़ और रिश्तेदारों के मकानात पर धावे

सौदेबाज़ी: एम एल एज़ और रिश्तेदारों के मकानात पर धावे

सी बी आई ने आज दो आज़ाद एम एल एज़ के इलावा दीगर ( अन्य/ दूसरे) विधायक (LEGISLATORS) के रिश्तेदारों के मकानात पर सौदेबाज़ी के मुबय्यना ( कथित तौर पर) इल्ज़ामात के तहत धावे किए । 30 मार्च को मुनाक़िद ( आयोजित) हुए राज्य सभा इंतिख़ाबात ( चुनाव) के बाद य

सी बी आई ने आज दो आज़ाद एम एल एज़ के इलावा दीगर ( अन्य/ दूसरे) विधायक (LEGISLATORS) के रिश्तेदारों के मकानात पर सौदेबाज़ी के मुबय्यना ( कथित तौर पर) इल्ज़ामात के तहत धावे किए । 30 मार्च को मुनाक़िद ( आयोजित) हुए राज्य सभा इंतिख़ाबात ( चुनाव) के बाद ये सूरत-ए-हाल सामने आई है ।

दरी असना सी बी आई के एक सिनीयर ओहदेदार ने बताया कि आज़ाद एम एल एज़ बन्धू तुर्की और चामरा लिंडा के मकानात पर धावे किए गए , इलावा अज़ीं दिल्ली और गुड़गावँ में वाक़्य ( मौजूद) पवन कुमार धूत के मकानात पर भी धावे किए गए। यहां इस बात का तज़किरा ज़रूरी है कि 30 मार्च को धूत राज्य सभा की दो नशिस्तों ( सीटों) के लिए आज़ाद उम्मीदवारों में से एक उम्मीदवार थे ।

सी बी आई ओहदेदार ने बताया कि जय एम एम एम , एम एल ए सत्या सोरेन के वालिद और आर जे डी एम एल ए संजय यादव के वालिद के मकानात पर भी धावे किए गए । याद रहे कि सौदेबाज़ी मुआमला की तहकीकात अपने ज़िम्मा लेने के बाद सी बी आई का ये चौथा धावा था ।

ये मुआमला दरअसल उस वक़्त मंज़र-ए-आम पर आया जब रांची में इंतिख़ाबात ( चुनाव) से सिर्फ चंद घंटे क़बल एक गाड़ी से 2.15 करोड़ रुपय बरामद हुए थे । 30 मार्च के इंतिख़ाबात को कुलअदम क़रार देते हुए 3 मई को नए इलेक्शन करवाए गए थे ।

एफ आई आर के मुताबिक़ जिस गाड़ी से ख़तीर ( ज्यादा) रक़म बरामद हुई थी वो दो आज़ाद एम एल एज़ में से एक एम एल ए के किसी रिश्तेदार की मिलकीयत थी । सी बी आई ने क़बल अज़ीं ( इससे पहले) आज़ाद उम्मीदवार आर के अग्रवाल और उन के रिश्तेदार के मकानात पर धावे किए थे।

TOPPOPULARRECENT