Tuesday , October 17 2017
Home / Bihar News / स्कूल गेट में फैला करेंट, एक के बाद एक गिरते चले गये बच्चे

स्कूल गेट में फैला करेंट, एक के बाद एक गिरते चले गये बच्चे

पीरबहोर थाने के मुसल्लहपुर बाज़ार वाकेय कन्या मिडिल स्कूल के लोहे के मेन गेट में करेंट की चपेट में आने से बुध को पांचवीं की तालिबा सुहानी की मौत हो गयी, जबकि तीन दीगर तल्बा तालिबात सन्नी, आकांक्षा और बबीता संगीन तौर से जख्मी हो गये।

पीरबहोर थाने के मुसल्लहपुर बाज़ार वाकेय कन्या मिडिल स्कूल के लोहे के मेन गेट में करेंट की चपेट में आने से बुध को पांचवीं की तालिबा सुहानी की मौत हो गयी, जबकि तीन दीगर तल्बा तालिबात सन्नी, आकांक्षा और बबीता संगीन तौर से जख्मी हो गये। करेंट स्कूल से सटी दुकान से फैला। उस दुकान पर इलेक्ट्रिक साइनबोर्ड लग रहा था। उसका एक तार स्कूल के गेट से सट गया था। बारिश की वजह से करेंट पूरे गेट में फैल गया। मैयत सुहानी के वालिद संजय कुमार साव के बयान पर दुकानदार के खिलाफ सनाह दर्ज की गयी है।

हादसे के बाद सन्नी को पीएमसीएच ले जाया गया, जबकि आकांक्षा और बबीता को मुक़ामी प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराने के बाद घर भेज दिया गया। वाकिया की जानकारी मिलने पर बड़ी तादाद में लोग जुट गये और हंगामा करने लगे। इत्तिला मिलते ही टाउन एएसपी बलिराम प्रसाद, पीरबहोर के थाना सदर निसार अहमद, कदमकुआं के थाना सदर बीके मेधावी और जिला इंतेजामिया के अफसर स्कूल में पहुंचे और मामले की छानबीन की। इसी दरमियान एमएलए अरुण कुमार सिन्हा भी वहां पहुंचे और लोगों से जानकारी ली। इधर लोगों से पुलिस अफसर बात कर ही रहे थे कि कुछ लोगों ने स्कूल के सामने सड़क जाम कर मुजाहिरा करने की कोशिश किया, लेकिन मुक़ामी लोगों ने ही समझा-बुझा कर उन्हें हटा दिया। माइय्यत तालिबा के वालिद को 21500 रुपये का मुआवजा दिया गया।

सन्नी, छोटू और दीगर मुक़ामी लोगों ने बताया कि यह वाकिया 10 बजे दिन की है। साढ़े नौ बजे स्कूल में लंच होता है और उसी वक़्त बच्चे खाना खाने अपने घर जाते हैं और फिर लौटते हैं। खाना खाकर लौटने के बाद यह हादसा हुआ। लेकिन, वक़्त को लेकर प्रिन्सिपल नीलम कुमारी का अलग बयान है। प्रिन्सिपल ने बताया कि मैं छुट्टी पर थी और वाकिया की जानकारी मिलने पर स्कूल में पहुंची। 11:30 बजे छुट्टी हुई, उस दौरान वाकिया हुई है।

वाकिया की जानकारी मिलने पर पहुंचे एमएलए अरुण सिन्हा का मुक़ामी ख़वातीन ने जम कर क्लास लिया। ख़वातीन ने उनसे यह पूछा कि हमेशा वाकिया होने के बाद ही आप लोग क्यों पहुंचते हैं? स्कूल के अंदर बारिश के दिनों में हालत काफी खराब हो जाती है। क्लास के अंदर तक पानी चला जाता है, लेकिन इन मसायलों पर आप लोग पहले क्यों नहीं कार्रवाई करते हैं।

TOPPOPULARRECENT