Tuesday , September 26 2017
Home / Khaas Khabar / सड़कों पर नमाज़ पढ़ना नाज़ी क़ब्ज़े जैसा

सड़कों पर नमाज़ पढ़ना नाज़ी क़ब्ज़े जैसा

फ़्रांस में इंतिहाई दाएं बाज़ू की क़ौम पसंद जमात नैशनल फ्रंट की ख़ातून रहनुमा मारियन लिपेन के ख़िलाफ़ मुक़द्दमे की समाअत शुरू हो गई है। उन्होंने कहा था कि मुसलमानों का सड़कों पर नमाज़ पढ़ना नाज़ियों के क़ब्ज़े जैसा है।

फ़्रांस के शहर लीयोन Lyon से मंगल बीस अक्तूबर के रोज़ मौसूला न्यूज़ एजैंसी ए एफ़ पी की रिपोर्टों के मुताबिक़ हालिया चंद बरसों के दौरान फ़्रांस में काफ़ी मक़बूलियत हासिल करने वाली और ग़ैर मुल्कीयों के ख़िलाफ़ क़ौम पसंदाना सोच को हव देने वाली जमात नैशनल फ्रंट की इस रहनुमा को नफ़रत और तशद्दुद को हवा देने की कोशिश के इल्ज़ामात का सामना है।

मारियन लिपेन की उम्र इस वक़्त 47 बरस है और उन्होंने पिछले चंद महीनों के दौरान अपनी जमात की साख को बेहतर और अपनी पार्टी के मौक़िफ़ को कुछ नरम बनाने की कोशिश करते हुए मुतअद्दिद इंतिख़ाबी कामयाबियां भी हासिल की हैं।

मारियन लिपेन आज मंगल के रोज़ लीयोन की एक अदालत में पेश हुईं, जहां उनको अपने ख़िलाफ़ इन बयानात के हवाले से क़ानूनी इल्ज़ामात का सामना है, जो उन्होंने पाँच साल क़ब्ल अपने वालिद से अपनी पार्टी की क़ियादत के हुसूल की कोशिशों के दौरान जल्सों से ख़िताब करते हुए दिए थे।

TOPPOPULARRECENT