Tuesday , September 19 2017
Home / Featured News / हंदवाडा पर सीमाएं में नरमी,फ़ौजी मोर्चे बरख़ास्त

हंदवाडा पर सीमाएं में नरमी,फ़ौजी मोर्चे बरख़ास्त

श्रीनगर: संघर्ष उत्तरी कश्मीर के कस्बे हंदवाडा में नगर पालिका के अधिकारियों ने आज सेना के तीन सैनिक मोर्चे बड़ी मार्किट से बरख़ास्त कर दिए। स्थानीय नागरिक एक समय से इसकी मांग कर रहे थे। तीन सैन्य मोर्चे जो ह‍ंदवाडा बड़े बाजार में दुकानों की छतों पर निर्माण किए गए थे बरख़ास्त कर दिए। उन्हें बलदी अधिकारियों ने हटा दिया। नगर पालिका के अधिकारियों के मुताबिक महत्वपूर्ण मोर्चा बड़े बाजार के चौराहे के पास था। इसका भी तख़लिया करवा दिया गया और नगर पालिका के अधिकारियों ने इस पर कब्जा कर लिया। मोर्चे ध्वस्त कर दिए गए और इस काम की आज दोपहर 2 बजे पूरी हुई।

कर्फ्यू जैसी सीमाएं जो कश्मीर के जिला कुपवाड़ा और तरीगाम में लगाया गया था आज ढील कर दी गईं। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि सीमाएं में कस्बे हंदवाडा में 8 से 12 बजे दिन चार घंटे की ढील दी गई है, अगर स्थिति शांतिपूर्ण बनी रहे तो यह विस्तार भी किया जा सकता है। उसने कहा कि फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है हालांकि कुपवाड़ा और तरीगाम कस्बों में हिंसा के ड‌र के तहत जनता के आंदोलन पर अब तक सीमाएं बनाए हैं।

कुल तीन घंटे की ढील दी गई थी लेकिन हिंसक विरोध प्रदर्शनों के बाद फिर सीमाएं लगा दी गई थी। एक व्यक्ति को उत्तरी कश्मीर के एक लड़की के साथ दुर्व्यवहार की घटना के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक इस घटना के बाद हंदवाडा में हिंसक घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया था।

हिलाल अहमद तटबंध दो आरोपियों में से एक की पहचान के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। इस लड़की ने स्थानीय नागरिकों के इस आरोप से इनकार कर दिया कि एक सैनिक उसके साथ दुर्व्यवहार की कोशिश की थी। न्यायिक मजिस्ट्रेट की बैठक में बयान देते हुए कहा कि 12 अप्रैल को स्कूल समय के बाद वह अपनी एक सहेली के साथ घर जा रही थी, वह एक सार्वजनिक शौचालय में हंदवाडा के बड़े वर्ग के पास दाखिल हुई। जब वह बाहर आई तो दो लड़कों ने उस पर हमला किया और उसे घसीटा। इसका किताबों का बैग छीन लिया, बाद में लड़की ने अपने पिता के साथ मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को अपना बयान दिया।

TOPPOPULARRECENT