Sunday , October 22 2017
Home / Islami Duniya / हज के इख़तताम पर हाजियों की ज़यारतों के लिए रवानगी

हज के इख़तताम पर हाजियों की ज़यारतों के लिए रवानगी

मक्का मुकर्रमा 11 नवंबर (एजैंसीज़) मनासिक हज के हिस्सा के तौर पर हाजियों की मुक़द्दस मुक़ामात की ज़यारत इतमाम को पहुंच चुकी है ताहम मुक़द्दस मुक़ामात य सफ़ाई सुथराई की जिन पर ज़िम्मेदारी है वो इस में मसरूफ़ होचुके हैं।

मक्का मुकर्रमा 11 नवंबर (एजैंसीज़) मनासिक हज के हिस्सा के तौर पर हाजियों की मुक़द्दस मुक़ामात की ज़यारत इतमाम को पहुंच चुकी है ताहम मुक़द्दस मुक़ामात य सफ़ाई सुथराई की जिन पर ज़िम्मेदारी है वो इस में मसरूफ़ होचुके हैं।

तक़रीबन 30 लाख हाजी हर साल हज अदा करते हैं और जब वो तमाम मनासिक हज अदा कर चुके होते हैं तो शहर ख़ेमा मनी अर्फ़ात और मक्का मुकर्रमा की गलियां पानी से धोई जाती हैं।

मक्का म्यूंसिपल्टी पर ये ज़िम्मेदारी है कि वो मुक़ामात मुक़द्दसा की सफ़ाई सुथराई करे और उन्हें साफ़ सुथरा रखें। मक्का मुकर्रमा के मेयर उसामा अल्बर ने बताया कि अर्फ़ात और मुज़दल्फ़ा में सफ़ाई का ऑप्रेशन हाजियों की वहां से रवानगी के साथ ही शुरू होचुका है।

उन्होंने कहा कि म्यूंसिपल्टी ने मुंह से हाजियों की रवानगी के साथ ही मुक़ामात मुक़द्दसा मैं कचरे की निकासी शुरू कर दी है। इन मुक़ामात मुक़द्दसा की सफ़ाई के लिए हज़ारों वर्कर्स को मामूर किया गया है। अल्बर ने बताया कि बेहतर ताल मेल और तेज़ रफ़्तारी सफ़ाई के लिए मुक़ामात मुक़द्दसा को 25 यूनिट्स में तक़सीम किया गया है जिन में मुंह मुज़दल्फ़ा और अर्फ़ात भी शामिल हैं।

उन्हों ने बताया कि सैंकड़ों कचरा के ट्र्क्स् के साथ 20,500 सफ़ाई वर्कर्स चारों पहर काम करने के लिए मामूर किए गए हैं।

TOPPOPULARRECENT