Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / हनुमंत राव जगन के एजेंट, बरत ग़ैर ज़रूरी

हनुमंत राव जगन के एजेंट, बरत ग़ैर ज़रूरी

कांग्रेस के दो अरकान असेंबली ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-इंचार्ज आंधरा प्रदेश कांग्रेस उमूर ग़ुलाम नबी आज़ाद को मकतूब(लेटर) रवाना करते हुए गांधी भवन में हनुमन्त राव के एहतिजाज की सख़्त मुज़म्मत की और उन के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई

कांग्रेस के दो अरकान असेंबली ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-इंचार्ज आंधरा प्रदेश कांग्रेस उमूर ग़ुलाम नबी आज़ाद को मकतूब(लेटर) रवाना करते हुए गांधी भवन में हनुमन्त राव के एहतिजाज की सख़्त मुज़म्मत की और उन के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई का मुतालिबा किया। ज़िला कृष्णा की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस रुकन(सदस्य) असेंबली ऐम विष्णु ने कहा कि हनुमंत राव ने माज़ी में तिरूपति में भी एहतिजाज किया था, जिस से ज़िमनी इंतिख़ाबात (उप चुनाव)में कांग्रेस पार्टी को नुक़्सान हुआ। ख़ुद के बारे में सीनीयर क़ाइद होने का दावा करने वाले हनुमंत राव यकतरफ़ा फ़ैसला करते हुए मनमानी कर रहे हैं।

हुकूमत की कारकर्दगी पर सवालिया निशान लगाते हुए अवाम में गलत फहमियां पैदा करने के इलावा अप्पोज़ीशन जमातों को हुकूमत और पार्टी पर तन्क़ीद का मौक़ा फ़राहम कर रहे हैं, जिन के ख़िलाफ़ हम ने मकतूब(लेटर) रवाना करते हुए हाईकमान को वाक़िफ़ किराया है। पार्टी के उसूलों और रहनुमा याना ख़ुतूत (गाइड लाइन)की ख़िलाफ़वरज़ी करना पार्टी की मुख़ालिफ़त के मुतरादिफ़ है।

इस से पार्टी के इत्तिहाद को नुक़्सान पहुंच रहा है और अवाम में ग़लतफ़हमी पैदा हो रही है। पार्टी कैडर के साथ नाइंसाफ़ी के जो भी इल्ज़ामात आइद किए जा रहे हैं, वो सब झूट हैं। हनुमंत राव पार्टी को नुक़्सान पहुंचाने के एजंडा पर काम कर रहे हैं। हाईकमान को फ़ौरी हरकत में आने और उन्हें कंट्रोल करने की ज़रूरत है। कांग्रेस के रुकन(सदस्य) असेंबली जोगी रमेश ने गांधी भवन में हनुमंत राव के मौन बरत एहतिजाज पर सख़्त तन्क़ीद करते हुए कहा कि उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर पर जो भी इल्ज़ामात आइद किए हैं,

वो बे बुनियाद हैं। असल में हनुमंत राव ही जगन के एजेंट हैं। वो अपनी ग़लती का एतराफ़ करें और चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ जो भी रिमार्कस किए हैं, इस से फ़ौरी दस्तबरदार होँ। सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्य नारायना ने अरकान असेंबली पर दबाउ डाल कर उन की प्रैस कान्फ़्रैंस मंसूख़ करवा दी।

इसी तरह हनुमंत राव के एहतिजाज के ख़िलाफ़ भी कार्रवाई की ज़रूरत है। चिंतन बैठक और नामज़द ओहदों पर तक़र्रुरात(नियुक्ति) के लिए एहतिजाज की ज़रूरत नहीं है, पार्टी हलक़ों में भी इस मसला पर बातचीत की जा सकती है।

TOPPOPULARRECENT