Monday , August 21 2017
Home / International / हम अपनी आबादी बढ़ाएंगे , परिवार नियोजन इस्लामी परंपराओं के खिलाफ है: तैयब एर्दोगन

हम अपनी आबादी बढ़ाएंगे , परिवार नियोजन इस्लामी परंपराओं के खिलाफ है: तैयब एर्दोगन

इस्तांबुल: तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब ईरदोआन ने परिवार नियोजन और गर्भनिरोधक साधनों के उपयोग का विरोध करते हुए कहा है कि किसी भी मुसलमान परिवार को परिवार नियोजन नहीं करनी चाहिए क्योंकि ऐसा करना इस्लामी परंपराओं के खिलाफ है।

इस्तांबुल से सोमवार 30 मई को प्राप्त समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस रिपोर्टों के अनुसार तुर्की के सबसे बड़े शहर इस्तांबुल में आज युवाओं और शिक्षा के विषय पर आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ईरदोआन ने कहा, कि ” यह बात खुलकर कहता हूँ कि हम अपने बच्चों में वृद्धि करेगे। हम अपनी आबादी बढ़ाएंगे। परिवार नियोजन और जन्म नियंत्रण,  इस चिंतित शैली का किसी भी मुसलमान परिवार को पालन नहीं करना चाहिए। ”

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

एसोसिएटेड प्रेस ने लिखा है कि इस सभा को अपने संबोधन में तुर्क राष्ट्रपति ने कहा, ” जो कुछ भी अल्लाह  कहता है, जो कुछ भी हमारे प्यारे पैगंबर (स अ) कहते हैं,  हमें उसी रास्ते पर चलना चाहिए। ”

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार तुर्क राष्ट्रपति ईरदोआन धार्मिक आदेशों का पालन करने वाले मुसलमान हैं और सार्वजनिक रूप से दिए जाने वाले अपने बयान से कई घटनाओं में विवादास्पद भी हो चुके हैं। अतीत में उन्होंने यह बयान देकर भी तुर्की में महिलाओं के अधिकारों के लिए सक्रिय कई संगठनों को नाराज कर दिया था कि महिलायें पुरुषों के बराबर नहीं हैं और हर महिला को कम से कम तीन बच्चों को जन्म देना चाहिए।

इसके अलावा पिछले कुछ दिनों से राष्ट्रपति अपनी इन प्रयासों के कारण भी आलोचना की चपेट में आ गए थे, जो उन्होंने गर्भपात और गैर वैवाहिक सेक्स को अवैध करार देने के लिए की थी।

इसी विषय पर जर्मन समाचार एजेंसी डी इ ए ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि रजब तय्यब ईरदोआन ने अपने जिस भाषण में आज मुसलमानों द्वारा गर्भनिरोधक साधनों का उपयोग किए जाने का विरोध किया, वह पूरे तुर्की में टेलीविजन पर सीधा प्रसारण किया जा रहा था। आपको बता दें कि राष्ट्रपति ईरदोआन पहले भी कई बार गर्भपात और गर्भनिरोधक साधनों के उपयोग का विरोध कर चुके हैं

तुर्क राष्ट्रपति जिस सभा को संबोधित कर रहे थे, यह व्यवस्था एक ऐसे विदेशी संस्था ने किया था, जो युवाओं से संबंधित मामलों और शिक्षा के क्षेत्र में सेवाएं प्रदान करता है। इस सभा को अपने संबोधन में राष्ट्रपति ईरदोआन ने कहा, ” खुदाई मामलों में किसी को भी हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। ”

समाचार एजेंसी रोइटरज़ के अनुसार तुर्की में सत्तारूढ़ पार्टी कृपया न्याय और विकास ‘या एकेपी के आधार रजब त्याब ईरदोआन ही ने रखी थी। इसी पार्टी से वह पहले एक से अधिक बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं और इसी पार्टी के सांसदों का समर्थन वे इस समय विदेशी राष्ट्रपति के पद पर हैं।

राष्ट्रपति ईरदोआन पहले भी कई बार कह चुके हैं कि किसी भी मुसलमान परिवार को परिवार नियोजन के बजाय ‘बड़े परिवार’ की सोच को अपनाना चाहिए। 2014 में तो एक बार तो उन्होंने यहां तक कह दिया था कि गर्भनिरोधक साधनों का उपयोग करते हुए बच्चों के जन्म को रोकना ‘तुर्की से विश्वासघात’ के बराबर है।

TOPPOPULARRECENT