Thursday , October 19 2017
Home / Islami Duniya / हरम की तौसीअ का मंसूबा एक नए मोड़ में दाख़िल

हरम की तौसीअ का मंसूबा एक नए मोड़ में दाख़िल

ख़ादिमुल हरमैन अश्शरीफ़ैन शाह अबदुल्लाह बिन अब्दुल अज़ीज़ की हिदायत पर तौसीअ हरम का मंसूबा एक नए तारीख़ी मोड़ में दाख़िल हो गया है। तौसीअ हरम के जारी मंसूबे के मुख़्तलिफ़ अदवार में जहां ख़ाना ख़ुदा की तामीर और तौसीअ के लिए जदीद फ़नो तामी

ख़ादिमुल हरमैन अश्शरीफ़ैन शाह अबदुल्लाह बिन अब्दुल अज़ीज़ की हिदायत पर तौसीअ हरम का मंसूबा एक नए तारीख़ी मोड़ में दाख़िल हो गया है। तौसीअ हरम के जारी मंसूबे के मुख़्तलिफ़ अदवार में जहां ख़ाना ख़ुदा की तामीर और तौसीअ के लिए जदीद फ़नो तामीर की माहिर इंजीनियरों की ख़िदमात ली गईं वहीं तामीराती मंसूबा अपनी मुक़र्ररा मुद्दत में पाये तकमील को पहुंचा और अब तक 6 लाख 25 हज़ार नमाज़ियों के लिए बैयक वक़्त बाजमाअत की अदाई का इंतेज़ाम कर लिया गया है।

अल अरबिया के मुताबिक़ तौसीअ हरम के पहले दो मराहिल में फ़्रस्ट फ़्लोर, ग्रांऊड फ़्लोर, मेज़ अनीन, गैलरियों की तामीर का काम मुकम्मल करने के बाद हरम को चारों सिमतों शुमाल, जुनूब मशरिक़ और मग़रिब में वुसअत दी गई है।

उन्हों ने बताया कि हाल ही में वज़ीरे दाख़िला शहज़ादा नाइफ़ बिन अब्दुल अज़ीज़ के साथ उन की एक अहम मुलाक़ात में मस्जिद हराम की सेक्यूरिटी बारे बातचीत की गई। मुलाक़ात के दौरान वज़ीरे दाख़िला को मस्जिद हराम की सेक्यूरिटी से मुताल्लिक़ इंतेज़ामात के बारे में आगाह किया गया।

TOPPOPULARRECENT