Wednesday , September 20 2017
Home / Maharashtra & Goa / हर राज्य में बने हज हाउस , अल्पसंख्यक मंत्रालय हर संभव मदद के लिए तैयार: मुख्तार अब्बास नकवी

हर राज्य में बने हज हाउस , अल्पसंख्यक मंत्रालय हर संभव मदद के लिए तैयार: मुख्तार अब्बास नकवी

मुंबई: अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि अल्पसंख्यक मंत्रालय और हज कमेटी ऑफ इंडिया ने आगामी हज की तैयारियां बहुत पहले से शुरू कर दी हैं ताकि हज यात्रियों को हज यात्रा में किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि हमारे मंत्रालय इस संबंध में युद्धस्तर पर काम कर रही है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार महाराष्ट्र के हज कमेटी के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि हर राज्य में हज हाउस बनाए जाने चाहिए. उस के लिए हमारे मंत्रालय हर संभव कोशिश और भारी मदद को तैयार है। हमने राज्य सरकारों को इस संबंध में पत्र भेज दिया है।मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा कि केंद्र सरकार इस बात के लिए प्रतिबद्ध है कि पिछले साल की तरह इस साल का हज यात्रा भी आसान और खुशगवार हो।

उन्होंने कहा कि पहली बार अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय ने अगस्त में हज से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए अधिकारियों की एक टीम मक्का भेजी थी। इस साल भी वरिष्ठ अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल हज व्यवस्था की निगरानी और समपर्क के लिए सऊदी अरब जाएगा।

श्री नकवी ने कहा कि उन्होंने हज व्यवस्था को और बेहतर बनाने और हाजियों को अधिक से अधिक सुविधा मुहैया कराने के लिए दिसंबर में भारत में सऊदी अरब के राजदूत डॉ। सऊद मोहम्मद अलसाती से मुलाकात की थी। उन्होंने डॉ अलसाती से आगामी हज यात्रा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर सार्थक और व्यापक बातचीत की।

इसके अलावा दो महीने पहले नई दिल्ली में हज के संबंध में एक समीक्षा बैठक भी आयोजित की जा चुकी है। इसमें हज से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर विस्तृत चर्चा हुई। पिछले हज के अनुभवों की समीक्षा कर आगामी हज की तैयारियों पर चर्चा की गई जिसमें हाजियों की बेहतर आवास और अच्छे यातायात की समस्या शामिल है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हमने आगामी हज के लिए देश भर से आने वाली विभिन्न सुझावों के आधार पर सऊदी अरब सरकार और हज से जुड़ी भारत की एजेंसियों से बातचीत शुरू कर दी है।

TOPPOPULARRECENT