Tuesday , October 17 2017
Home / Uttar Pradesh / हर साल 30 हजार लड़कियों की तस्करी

हर साल 30 हजार लड़कियों की तस्करी

इंसानी तस्करी पर रोकथाम मौजू पर इवांजेलिकल फेलोशिप ऑफ इंडिया (इएफआइ) की तरफ से मुखतलिफ़ चर्च की ख़वातीन के लिए एचआरडीसी में सेमिनार का एंकाद किया गया। इसमें इएफआइ-चिल्ड्रेन एट रिस्क की डाइरेक्टर आशीमा सैमुएल ने कहा कि इंसानी तस्कर

इंसानी तस्करी पर रोकथाम मौजू पर इवांजेलिकल फेलोशिप ऑफ इंडिया (इएफआइ) की तरफ से मुखतलिफ़ चर्च की ख़वातीन के लिए एचआरडीसी में सेमिनार का एंकाद किया गया। इसमें इएफआइ-चिल्ड्रेन एट रिस्क की डाइरेक्टर आशीमा सैमुएल ने कहा कि इंसानी तस्करी पर रोकथाम में चर्च अहम किरदार निभा सकता है। इसे और सरगर्म किरदार निभानी चाहिए।

लोगों को बेदार करना और उन्हें सरकारी मंसूबों की जानकारी देना जरूरी है। वकील प्रकाश पुत्तुश्री ने कहा कि झारखंड से हर साल तकरीबन 30,000 लड़कियों की स्मगलिंग होती है। लोग एफआइआर दर्ज कराने, चाइल्ड वेल्फेयर कमेटी के काम वगैरह के बारे में जानकारी रखें। फादर तेलेस्फोर एक्का ने इंसानी तस्करी की वजह से इस पर रोकथाम के लिए किये जा रहे काम और इस काम से जुड़े तंज़ीमों के बारे में बताया। इंसानी तस्करी से जुड़े कानून और खातून के हक़ूक के सिलसिले में भी बताया। मेरी लकड़ा ने अपने ख्याल बांटे।

बा शुक्रिया : प्रभात खबर

TOPPOPULARRECENT