Saturday , October 21 2017
Home / Bihar News / हर हाल में कायम रखेंगे फिरका वाराना हम अहंगी

हर हाल में कायम रखेंगे फिरका वाराना हम अहंगी

रियासत में हाल में घटी वारदातों ने हुकूमत और इंतेजामिया के सामने चाइलेंज पेश की है। हम हर हाल में फिरका वाराना हम अहंगी को कायम रखेंगे। ये बातें वजीरे आला नीतीश कुमार ने यौमे आज़ादी के मौके पर गांधी मैदान में क़ौमी परचम फहराने के

रियासत में हाल में घटी वारदातों ने हुकूमत और इंतेजामिया के सामने चाइलेंज पेश की है। हम हर हाल में फिरका वाराना हम अहंगी को कायम रखेंगे। ये बातें वजीरे आला नीतीश कुमार ने यौमे आज़ादी के मौके पर गांधी मैदान में क़ौमी परचम फहराने के बाद आवाम को खिताब करते हुए कहीं। अपने खिताब में वजीरे आला ने एक तरफ जहां अपनी हुकूमत की कामयाबीयां गिनायीं, वहीं दूसरी तरफ आवाम को कई तोहफे भी दिये। इसके साथ ही उन्होंने बिहार के तेजी से तरक़्क़ी के लिए मर्कज से खुसुसि रियासत का दर्जा देने की मांग दोहरायी।

सबको मिले तरक़्क़ी का फायदा

वजीरे आला ने कहा, रियासत में जुर्म पर काबू पाने के लिए हर मुकमीन कोशिश किया गया है। अदालत के अफसरों और इंतेजामिया की मदद से ही 80 हजार से ज़्यादा मुजरिमों को सजा दिलायी गयी है। बिहार में कानून का राज कायम है। हुकूमत पूरी ईमानदारी और कूवत के साथ तमाम चाइलेंज का सामना करेगी। बद उनवानी के खिलाफ हुकूमत ने जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी अपनायी है। बद उनवानी से जायदाद का जखीरा बनानेवालों के यहां छापेमारी कर जायदाद जब्त की जा रही है। बिहार की आबोहवा अच्छी है। यहां की मिट्टी पैदावारी है। लोगों के मदद से ही बिहार का तरक़्क़ी होगा.

तरक़्क़ी का वही तरीका मुनासिब है, जिसका फायदा समाज के हर सख्स को मिले। यह तरीका शामिल हो और इंसाफ के साथ तरक़्क़ी का है। ज़राअत के बिना बिहार का तरक़्क़ी नहीं। ज़राअत रोड मैप बनाया गया है।

इसका असर दिख रहा है। धान, गेहूं और मक्का के पैदावारी में बिहार क़ौमी औसत से आगे निकल चुका है। फिलहाल बाढ़ से ज़्यादा सूखे की हालत है। 48 फीसद कम बारिश हुई है। सिंचाई के लिए आठ घंटे बिजली की फराहम की जा रही है। नलकूप दुरुस्त किये जा रहे हैं। जरूरत पड़ी, तो कुछ इलाकों को आकाल का भी ऐलान किया जायेगा।

TOPPOPULARRECENT