Thursday , September 21 2017
Home / Delhi News / हाईकोर्ट के छापे के आदेश के बाद बीजेपी ने की केजरीवाल से इस्तीफ़े की मांग

हाईकोर्ट के छापे के आदेश के बाद बीजेपी ने की केजरीवाल से इस्तीफ़े की मांग

image

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने सीबीआई को एक निचली अदालत के आदेश के बाद राज्य सचिवालय में एक छापे के दौरान जब्त किए गए दस्तावेजों के जारी करने के आदेश दिए हैं जिसके बाद भाजपा ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की मांग की।

बुध के रोज़ जस्टिस पी एस तेजी ने अपने आदेश में कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पिछले साल 15 दिसंबर को केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के कार्यालय में एक छापे के दौरान जो दस्तावेज़ ज़ब्त किये थे वो वापस नहीं किये जायेंगे |

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने यहां एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि, भारतीय जनता पार्टी उच्च न्यायालय के इस फैसले का स्वागत करती है इससे स्पष्ट होता है कि केजरीवाल ने दिल्ली सरकार या मुख्यमंत्री की कुर्सी की हिफ़ाज़त नहीं करते हुए भ्रष्टाचार को बचाने की कोशिश कर रहे हैं उन्होंने ये भी कहा कि केजरीवाल ने इस मामले में वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ राजनीतिक बदले की भावना के तहत प्रधानमन्त्री मोदी के ख़िलाफ़ भी आरोप लगाये थे लेकिन कोर्ट के इस फैसले से सब साफ़ हो गया है |

उन्होंने कहा कि वह हर बार प्रधानमन्त्री के इस्तीफ़े की मांग करते हैं लेकिन अब इस मामले को देखते हुए उन्हें ख़ुद इस्तीफ़ा दे देना चाहिए | बीजेपी नेता ने कथित तौर पर केजरीवाल से मांग की कि वह भ्रष्टाचार के बचाव के लिए माफी मांगे क्यूँकि वह राजधानी को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के नाम पर ही सत्ता में आये थे लेकिन वह सबसे सबसे भ्रष्ट सरकार है|

सीबीआई के छापे के बाद केजरीवाल ने दावा किया था कि उनके कार्यालय भी छापा मारा गया है और उन्होंने इसे दिल्ली और जिला क्रिकेट एसोसिएशन जिसकी अध्यक्षता जेटली ने 2003-2013 तक की थी ,में हुए कथित भ्रष्टाचार की जाँच से जोड़ दिया था |

जावड़ेकर ने यह भी कहा कि मंगल के रोज़ केजरीवाल ने अपने उस मंत्री का भी समर्थन किया था जिसकी रिश्वत लेते हुए वीडियो क्लिप मौजूद है |उन्होंने ये भी कहा कि केजरीवाल इस वीडियो क्लिप के बारे में कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है बल्कि उसका बचाव किया है वह अपने हर उस विधायक का बचाव करता है जिसके ख़िलाफ़ चार्जशीट दाख़िल है और आखिर तक उनका बचाव करता है अब भी वह यही कर रहा है |

TOPPOPULARRECENT